चल गया पता, जीतनराम मांझी इसबार इनके साथ मिलकर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव..सबकुछ फिक्स हो गया

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : महागठबंधन से नाता तोड़ने के बाद जीतनराम मांझी को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे. इस बार वो किधर जाएंगे, किसके साथ मिलकर बिहार चुनाव लड़ेंगे, इन सब बातों पर पर्दा था. लेकिन अब सस्पेंस खत्म हो गया. यह बात क्लीयर हो गया कि मांझी ट्वंटी-ट्वंटी का बिहार मुकाबला एनडीए के साथ मिलकर खेलेंगे.

सब कुछ ठीक रहा तो 2 सितंबर को जीतनराम मांझी एनडीएम में शामिल होने को लेकर फैसला लेंगे. यह फैसला 30 अगस्त को ही मांझी लेने वाला थे. लेकिन किसी कारणवश 30 अगस्त के कार्यक्रम को टाल दिया गया. 2 अगस्त को एनडीए के चौथे घटक दल के रूप में हम पार्टी हो जाएगी. बताया जा रहा है कि महागठबंधन के अलग होने के बाद मांझी अपने लिए नए गठजोड़ की तलाश कर रहे थे.



एनडीए में शामिल होने का फैसला करने से पहले उन्होंने जाप, वीआईपी और अन्य पार्टियों से भी बात की थी. चुनाव से पहले बिहार में तीसरे मोर्चे के आकार लेने के कम संभावना को देखते हुए मांझी ने तुरंत एनडीए में शामिल होने का फैसला लिया.

कहा तो यह जा रहा है कि सितंबर के पहले सप्ताह में मांझी को औपचारिक रूप से एनडीए में शामिल कराय जाएगा. पहले हम पार्टी का जेडीयू में शामिल होने की चर्चा थी, लेकिन जीतनराम मांझी ने अपनी पार्टी का विलय करने से बदले एनडीए का घटक बनना बेहतर समझा.  

राजनीतिक पंडित यह मान रहे हैं कि मांझी के एनडीए में शामिल होने से दलिव वोट पर और मजबूत पकड़ बनेगी. इन्हे जेडीयू कोटे से 9-12 सीट मिल सकती है. जिसको लेकर जीतनराम मांझी और नीतीश कुमार के बीच बातचीत भी फाइनल हो चुकी है.