30000 लोगों को भारत में नौकरी देंगे पटना के अनिल अग्रवाल

लाइव सिटीज डेस्क : पटना के अनिल अग्रवाल का डंका पूरी दुनिया में बज रहा है. दुनिया की सबसे बड़ी माइनिंग कंपनियों में शुमार एंग्लो अमेरिकन कंपनी के $2.44 बिलियन शेयर खरीदे जाने की बाद से अनिल अग्रवाल काफी चर्चा में हैं. उनका अगला उद्देश्य भारत में व्यापार को बढ़ाने का है. वे भारत में उच्च तकनीक की मदद से पहली एलसीडी निर्माण कंपनी खोलने को लेकर प्रतिबद्ध हैं. इसी सिलसिले में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में वित्तीय मामले के चर्चे के दौरान अनिल अग्रवाल के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट में फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट को मंजूरी मिल गई है.  

बुधवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में बुधवार को  9000 करोड़ रुपये के विदेशी निवेश के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी है. यह मंजूरी अनिल अग्रवाल द्वारा प्रमोटेड मॉरिशस आधारित कंपनी ट्विन स्टार टेक्नोलॉजीज को मिली है.

यह निवेश आने वाले समय में रोजगार के अवसरों को पैदा करेगा जो कि 30000 से ज्यादा लोगो के लिए लाभदायक होगा. प्रस्ताव के मुताबिक मार्च 2025 तक अनिल अग्रवाल द्वारा समर्थित मॉरीशस स्थित ट्विन स्टार ओवरसीज कंपनी से 9000करोड़ रुपये का निवेश भारत में होने वाली है. ऑफिसियल रिलीज़ में यह भी कहा गया है की यह निवेश इक्विटीज और डिबेंचर्स  को मिला कर किया जायेगा. 

बता दें कि अनिल अग्रवाल की संयुक्त कंपनी ट्विन स्टार टेक्नोलॉजी व भारत में कार्यरत अन्य कंपनी जो इस गतिविधि में शामिल हैं उन्हें इस प्रस्तावित निवेश का लाभ मिलेगा. मार्च 2025 तक भारत में 9000करोड़ रुपये तक का निवेश किया जाएगा जिससे कि प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से लगभग 30000लोगों को रोजगार मिलेगा.

पिछले साल, अग्रवाल की कंपनी ने यह घोषणा की थी की वह भारत की पहली LCD निर्माण करने वाली कंपनी बन जाएगी, जिसमें पाँच चरणों में लगभग 68000 करोड़ रुपये का निवेश किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें- पटना के अनिल अग्रवाल का अगला निशाना LG, कर सकते हैं $10 बिलियन का करार