खाद की कालाबजारी कराने वालों पर सरकार का शिकंजा, 318 उर्वरक दुकानदारों के लाइसेंस निलंबित

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: खाद की कालाबजारी कराने वालों पर सरकार का शिकंजा कसने लगा है. अब तक राज्य में 1300 खाद की दुकानों पर छापामारी की गई है. अनियमितता करने वाले चार दुकानदारों पर प्राथमिकी दर्ज करायी गई है. अभी- तक 318 उर्वरक दुकानदारों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं और 217 दुकानदारों से स्पष्टीकरण पूछा गया है.

कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने अधिकारियों को निर्दश दिया कि किसी भी हालत में किसानों को उचित मूल्य पर ही खाद मिलनी चाहिए. पॉश मशीन से ही उर्वरक की बिक्री की जा जाए. टीम को औचक निरीक्षण करते रहने का निर्देश दिया. साथ ही किसानों से अपील की कि वह स्वॉयल हेल्थ कार्ड की अनुशंसा के अनुसार संतुलित खाद का उपयोग करें.



राज्य में खाद की कालाबाजारी का अरबों का कारोबार है। विक्रेता रोज कालाबाजारी का नया तरीका निकालते रहते हैं. जांच में पता चला था कि 2019-20 में राज्य में 56 प्रतिशत खाद बिना सही आधार कार्ड के बिकी है. 46 फीसदी लेनदेन भी काल्पनिक व्यक्ति के आधार कार्ड पर ही हुआ है.