कैश लेन-देन पर सरकार की चोट, एक करोड़ से ज्यादा निकासी पर 2 फीसदी TDS

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के पार्ट-2 में पूर्णकालिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का आम बजट पेश किया. मोदी सरकार के पार्ट-2 का ये पहला बजट है. बजट में कई चीजें महंगी हुई तो काफी चीजों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रियायत भी दी. हालांकि टैक्स स्लैब में किसी तरह का की बदलाव नहीं किया गया है. देश के आम बजट की कुछ खास बातें हम आपको बता रहे हैं.

पेट्रोल-डीजल और सोना महंगा

बजट 2019 के अनुसार अगर आप बैंक से एक वित्तीय वर्ष में एक करोड़ से अधिक रुपये निकालते हैं तो आपको 2 फीसदी का टीडीएस देना होगा. बता दें कि सालाना एक करोड़ से अधिक पैसा बैंकों से निकालने पर 2 लाख रुपये टैक्स के रूप में कट जाएगा. वहीं सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर सेस बढ़ा दिया है. अब पेट्रोल और डीजल पर एक रुपये अधिक सेस देना होगा. गोल्ड और अन्य बहुमूल्य धातुओं पर कस्टम ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया गया है.

पैन नहीं, टेंशन नहीं

हालांकि बजट 2019 से उन लोगों को राहत मिली है जिनके पास पैन नहीं है. सरकार ने बड़ी राहत देते हुए कहा है कि जहां पैन कार्ड की जरूरत होगी वहां आधार नंबर से काम हो सकेगा. इनकम टैक्स देने के लिए भी पैन की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है. अगर आप पैन की जगह आधार नंबर भी देते हैं तो आपको इनकम टैक्स रिटर्न भरने की छूट मिल जाएगी.

वहीं सरकार ने टैक्स स्लैब का दायरा बढ़ा दिया है. 400 करोड़ रुपये तक सालाना टर्नओवर वाली कंपनियों को 25% के सबसे निचले टैक्स स्लैब के दायरे में ला दिया गया है. इससे पहले 250 करोड़ रुपये के सालाना टर्नओवर वाली कंपनियां ही इस दायरे में थीं. नए फैसले से अब 99.30 प्रतिशत कंपनियां 25% के कॉर्पोरेट टैक्स के दायरे में आ जाएंगी.

कांग्रेस अड़ी तेजस्वी के इस्तीफे पर, राबड़ी बोलीं- राहुल का रिजाइन ग़लत

वहीं वित्त मंत्री ने जॉब करनेवाले मिडिल क्लास के लोगों को बड़ी राहत दी है. बजट पेश करने के दौरान उन्होंने ऐलान किया है कि सालाना 5 लाख से कम आय होने पर इनकम टैक्स से पूरी तरह छूट मिल जाएगी. इससे देश में बड़ी संख्या में लोगों को राहत मिलेगी.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*