राज्यपाल और सीएम नीतीश ने क्रिसमस की दी बधाई, तेजस्वी ने प्रभु यीशू मसीह की जीवन को बताया सुख का सार

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: राज्यपाल ने बिहार के लोगों को क्रिसमस की बधाई दी. राज्यपाल फागू चौहान ने क्रिसमस के अवसर पर अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि प्रभु यीशू की कृपा से सबके जीवन में सुख, शांति और संतुष्टि बनी रहे. उन्होंने कहा कि क्रिसमस के दिन हमें प्रभु यीशू के भाईचारा, दयालुता, प्रेम और करूणा के संदेशों का अनुसरण करने के लिए संकल्पित होना चाहिए. उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि सभी राज्यवासी सुविकसित और समृद्ध बिहार के नव-निर्माण हेतु प्रतिबद्ध होंगे तथा क्रिसमस यहां के लोगों में सुख, शांति और सम्पन्नता समाहित करेगा.

वहीं नीतीश कुमार ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर लोगों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रभु यीशु मसीह का संदेश त्याग, शान्ति, प्रेम एवं करूणा का है जो संपूर्ण मानव जाति के कल्याण के लिए है. प्रभु यीशु मसीह के संदेश को हम अपने जीवन में उतारें. मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया है कि क्रिसमस का पर्व राज्यवासियों में प्रेम, सदभाव के साथ-साथ सुख शांति एवं समृद्धि लेकर आयेगा.



सीएम ने कहा कि वर्तमान में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए प्रत्येक व्यक्ति का सचेत रहना नितान्त आवश्यक है. अपनी तरफ से पूरी सावधानी बरतें. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव का सबसे अच्छा उपाय सोशल डिस्टेंसिंग है. बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग जरूरी करें.

वहीं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी देश एवं राज्यवासियों को क्रिसमस की शुभकामनाएं दी और कहा कि प्रभु यीशू मसीह की शिक्षा दया,करूणा एवं मानवता की सेवी की थी. उनकी शिक्षा को जीवन में उतारें यहीं उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी.

बता दें कि कोरोना के कारण इस साल पर्व मनाने को लेकर कुछ पाबंदियां लगायी गयी है. चर्चो में प्रभु ईसा मसीह की याद में केवल प्रार्थना की जाएगी. वहां सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे. चर्च में मास्‍क पहन कर ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी. इसके पहले थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन की प्रक्रिया पर ध्‍यान दिया जाएगा. चर्चों में भीड़ नहीं हो, इसलिए कई जगह दो शिफ्टों में प्रार्थना सभाएं होंगी. क्रिसमस के मौके पर कानून-व्‍यवस्‍था बनाए रखने के कड़ी सुरक्षा के निर्देश भी दिए गए हैं.

25 दिसंबर को प्रभु यीशु के जन्म दिन के मौके पर ईसाई धर्मावलंबी क्रिसमस मनाते हैं. इस दिन घरों से लेकर चर्चों तक क्रिसमस की धूम रहती है. लेकिन इस साल कोरोना संक्रमण के कारण पूरे राज्‍य के चर्चों में कुछ पाबंदियां लगाई गईं हैं. सड़कों सहित सार्वजनिक अन्‍य स्‍थलों पर लागू कोरोना गाइडलाइन का भी पालन अनिवार्य है.