सदन में आज हंगामे के बीच राज्यपाल का हुआ अभिभाषण, नहीं होगा प्रश्नोत्तर काल, कल समापन

लाइव सिटीज,सेंट्रल डेस्क : बिहार विधानसभा की कार्यवाही के चौथे दिन विपक्ष के हंगामे के बीच राज्यपाल फागू चौहान का अभिभाषण लगभग एक घंटे तक चला. हंगामे को देखते हुए विधानसभा की बैठक शुक्रवार 27 नवंबर के 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण पर वाद-विवाद प्रश्नोत्तर काल नहीं होंगे.

आज सदन में बिहार कराधान विवादों का समाधान अध्यादेश 2020, बिहार राज्य उच्चतर शिक्षा परिषद संशोधन अध्यादेश 2020 पेश किया गया. साथ ही दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई. सभी सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखा.



वहीं राज्यपाल फागु चौहान ने कहा कि बिहार में विकास के लिए सरकार संकल्पित है. गरीबों के विकास के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं. ये योजनाएं आगे भी काम करती रहेंगी. पर्यावरण संरक्षण के लिए भी सरकार लगातार काम कर रही है.

कोरोना के दौरान सरकार ने बेहतर काम किया है. लाखों लोगों का राशन कार्ड बनवाकर उन्हें मदद पहुंचाई गई. पिछले 15 सालों में राज्य की विकास दर में काफी वृद्धि हुई है. उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना बीमारी की रोकथाम के लिए शुरू से सचेत रही है. इस पर लगातार काम हो रहा है.

उन्होंने कहा कि अन्य राज्यों में फंसे कुल 20.95 लाख लोगों को मुख्यमंत्री राहत कोष से 1000 रुपए प्रति व्यक्ति की दर से विशेष सहायता दी गई. विशेष चयन एवं अन्य माध्यम से अधिक संक्रमण वाले 11 शहरों से लौटने वाले 15 लाख से अधिक लोगों को मदद की गई.

राज्यपाल के अभिभाषण की बड़ी बातें-

-राज्य सरकार को केंद्र सरकार की मदद मिली है.

-राज्य में सामाजिक सौहार्द का वातावरण बना है.

-राज्य में जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई गई है.

-अपराध, भ्रष्टाचार के रोकथाम के लिए व्यवस्था की गई है.

-छात्रवृत्ति और साइकिल योजना चल रही है.

-समाज के हर वर्गों के विकास के लिए सरकार काम कर रही है.

-स्वास्थ्य क्षेत्रों में भी लगातार काम कर रही है.

-कृषि के विकास के लिए रोडमैप बनाया जाएगा.

-राज्य में जैविक खेती को बढ़ावा दिया गया है.

-किसानों को इसके लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है.

-बिजली के क्षेत्र में भी राज्य में सुधार आया है.

– हर घर बिजली पहुंचा दी गई है.

-हर घर जल, नली-गली पर काम हुआ है.

-सात निश्चय के तहत काम जारी है.