गुलजारबाग में टिकट काउंटर से पकड़े गए दो दलाल, राजेन्द्र नगर RPF टीम ने की कार्रवाई

पटना : रेलवे में टिकट के लिए दलालों का गैंग अब भी एक्टिव है. पटना जंक्शन और राजेन्द्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर भले दलालों का मूवमेंट कम पड़ गया हो, लेकिन आसपास के छोटे रेलवे स्टेशनों पर दलाल और उनका गैंग अब भी एक्टिव है. छोटे रेलवे स्टेशनों पर हर दिन इनका मूवमेंट होता है. खासकर तत्काल टिकट के टाइम दलालों का मूवमेंट और बढ़ जाता है. तत्काल टिकट के टाइम कोई भी दलाल अकेले नहीं होता है. इनके साथ और भी लोग होते हैं, जो डेली टिकट लेने पहुंच जाते हैं.

पिछले कुछ समय से गुलजारबाग रेलवे स्टेशन का रिजर्वेशन काउंटर दलालों को ठिकाना बना हुआ था. इस बात की जानकारी राजेन्द्र नगर आरपीएफ पोस्ट के प्रभारी को मिल चुकी थी. दलालों के पकड़ने के लिए पोस्ट के प्रभारी ने अपनी टीम को एक्टिव कर रखा था. सोमवार को टीम पहले से गुलजारबाग रेलवे स्टेशन पर मुस्तैद थी.

देखिये लाइव सिटीज की सुपर एक्सक्लूसिव वीडियो : #मुजफ्फरपुर के एसएसपी #विवेककुमार के यहां कैसे हो रही थी रेड,कहाँ से मिली थी कार्बाइन, तस्वीरें वहां से, जहां फोटो की मनाही थी . पानी-पानी थे सवालों से .आपने यह तस्वीर अब तक नहीं देखी होगी…

टीम ने दो दलालों को तत्काल का टिकट कटाते हुए रंगे हाथ पकड़ा. आरपीएफ की हुई इस कार्रवाई से स्टेशन कैंपस में हड़कंप मच गया. मौके पर मौजूद कई दलाल बच कर निकल गए. पकड़े गए दलालों में गुलजारबाग एरिया का रहने वाला दया नरेंद्र और पटना सिटी के मालसलामी एरिया का अशोक कुमार शामिल है.

लाइव सिटीज की नई पेशकश : सरकारी नौकरी की तैयारी में लगे छात्रों के लिए रामबाण ट्रिक्स… सिर्फ 3 सेकंड्स में हल कर लें मैथ के बड़े-बड़े सवाल

इन दलालों के पास से तत्काल का दो टिकट, 11 हजार रुपया कैश और काफी संख्या में रेलवे का रिजर्वेशन फॉर्म बरामद किया गया. पकड़े जाने के बाद दोनों को राजेन्द्र नगर टर्मिनल के आरपीएफ पोस्ट पर लाया गया. जहां दोनों से पूछताछ की गई. टिकट दलाली के धंधे में ये दोनों लंबे वक्त से एक्टिव हैं. इन दोनों के खिलाफ रेलवे एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है. आपको बता दें कि टिकट की दलाली करने वालों के खिलाफ समय—समय पर आरपीएफ की ओर से कई अभियान चलाए गए हैं.

About Amit Jaiswal 1004 Articles
पटना में क्राइम की हर खबरों पर होती है पैनी नजर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*