हाजीपुर सिविल कोर्ट से लोजपा उम्मीदवार वीणा देवी को मिली जमानत

लाइव सिटीज, मुजफ्फरपुर (विकास कुमार गुप्ता) : वैशाली लोकसभा से एनडीए प्रत्याशी वीणा देवी को हाजीपुर एसीजीएम के न्ययालय से शुक्रवार को जमानत मिल गई हैं. आज के दिन वे अपने अधिवक्ता विनोद कुमार के साथ कोर्ट में सलेंडर कर जमानत प्राप्त की हैं. इस दौरान उनके पति जदयू एमएलसी दिनेश प्रसाद सिंह समेत अन्य लोग मौजूद थे. कोर्ट ने 10 हजार के मुचलके पर वीणा देवी को जमानत दे दी. जिसके बाद से वीणा देवी के समर्थकों में काफी खुशी का माहौल देखा गया. इस दौरान समर्थकों के बीच मिठाइयां बांटी गई और एक-दूसरे को बधाई दी गई.

आपको बता दें कि इस मौके पर वीणा देवी के पति और मुजफ्फरपुर के विधान पार्षद दिनेश सिंह ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि पॉलीटिकल लाभ लेने के लिए बेवजह मुद्दे को उठाया गया था. उधर वीणा देवी ने भी जमकर प्रहार किया और कहा कि एक साजिश के तहत उन्हें फंसाने की कोशिश की गई. लेकिन, विरोधियों की साज़िश नाकाम हो गई.

दरअसल, साल 2005 में लालगंज विधानसभा क्षेत्र से राजद उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे वीणा देवी द्वारा बूथ पर अपने समर्थकों के साथ उपद्रव करने का आरोप था. जिसको लेकर लालगंज थाना में वीणा देवी के खिलाफ केस दर्ज की गई थी. वीणा देवी के वकील द्वारा कोर्ट में केस की जानकारी नहीं होने की दलील दी गई. जिस पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने वीना देवी को जमानत दे दी. जिससे वीणा देवी राहत की सांस ली है.

रघुवंश प्रसाद सिंह के आरोपों पर वीणा देवी का कहना है कि मेरे ऊपर दर्ज केस के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं थी. 2005 में वह लालगंज विधानसभा का चुनाव लड़ी थी. उस समय केस दर्ज हुआ तो अब तक प्रशासन कहां था. अगर मुझ पर केस था, मुझे नोटिस मिलता या मेरी गिरफ्तारी होती. मेरी जानकारी में अगर यह मामला होता तो वह कोर्ट से बेल ले चुकी होती.

आपको बता दें कि गुरुवार को वैशाली से एनडीए से लोजपा उम्मीदवार वीणा देवी को बड़ी राहत मिली थी. वीणा देवी पर अपने चुनावी हलफनामे में जानकारी छुपाने का आरोप लग रहा था और उनके नामांकन रद्द होने का अंदेशा जताया जा रहा था लेकिन इस मामले में उन्हें बड़ी राहत मिली थी. वैशाली के निर्वाची पदाधिकारी सह मुजफ्फरपुर के डीएम ने उनके नामांकन पत्र को रद्द करने से इंकार कर दिया था. साथ ही वैशाली के राजद प्रत्याशी रघुवंश प्रसाद सिंह की तरफ से दी गई आपत्ति को खारिज कर दिया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*