बिहार के इन विधायकों की बढ़ गई है धुकधुकी, पटना हाईकोर्ट में 4 जनवरी को सुनवाई

लाइव सिटीज सेंट्रल डेस्क : बिहार में इस बार दर्जनों विधायक ऐसे हैं, जो काफी कम मार्जिन से जीते हैं. इसमें सभी दल के विधायक शामिल हैं. ऐसे ही दो दर्जन से अधिक विधायकों की धुकधुकी बढ़ गई है. दरसअल, कम मार्जिन से हारने वाले प्रत्याशियों ने पटना हाईकोर्ट याचिका दायर की है.

दायर याचिका पर अगली सुनवाई चार जनवरी को होगी. केस करने वालों में कांग्रेस से सुमंत कुमार, गजानन शाही, विनय वर्मा, उमेश राम, रवि ज्योति कुमार, मोहन श्रीवास्तव, अंबिका यादव व बोगो सिंह, राजद से शक्ति यादव, रीतु जायसवाल का नाम शामिल है.



साथ ही राजेंद्र प्रसाद, अविनाश विद्यार्थी, अबु दोजाना, विपिन मंडल, सरोज यादव व दिगंबर तिवारी, बीजेपी के मिथिलेश तिवारी व सचींद्र सिंह तथा जदयू की रंजू गीता, श्याम बिहारी प्रसाद तथा महेंद्र राम शामिल हैं. इनमें पांच निर्दलीय भी शामिल हैं.

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में दर्जनों ऐसी सीटें है जहां पर जीत हार का अंतर 10,20,30 वोट से भी कम है. जिसको लेकर आरजेडी ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए थे. आरजेडी की माने तो सत्ता की बदौलत विपक्षी प्रत्याशियों को हराने का काम किया गया. कांग्रेस ने भी चुनाव परिणाम बाद यह कहा था कि कहीं कहीं तो पार्टी प्रत्याशी की जीत की घोषणा तक कर दी गयी, लेकिन घंटो बाद उसे सर्टिफिकेट नहीं दिया गया.