लालू से मिले अली अनवर, मांझी-कुशवाहा को दिया न्यौता, नीतीश पर भी बोले

अली अनवर का फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : जदयू के बागी नेता व राज्यसभा सांसद से अयोग्य करार दिये गये अली अनवर शनिवार को पटना में थे. वे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद से मिले. उन्होंने लालू प्रसाद से काफी देर तक बात भी की. सबसे बड़ी बात कि उन्होंने लालू प्रसाद को अपना नेता बताया. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार अली अनवर ने राजद सुप्रीमो से कई राजनीतिक समीकरण पर ही बात की. इतना ही नहीं, बाद में मीडिया को संबोधित करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर काफी चुटकी भी ली. इसी तरह उन्होंने एनडीए घटक दल के नेता उपेंद्र कुशवाहा और जीतनराम मांझी पर भी बात की.

गौरतलब है कि जदयू का बागी गुट इन दिनों काफी चर्चा में है. हाल ही में राज्यसभा सांसद शरद यादव व उनके समर्थक अली अनवर की सदस्यता को राज्यसभा ने रद्द कर दिया है. वहीं पिछले दिनों चुनाव आयोग ने नीतीश गुट को ही असली जदयू करार दिया तथा चुनाव चिह्न तीर को भी उन्हीं के हवाले कर दिया. हालांकि तीर का मामला दिल्ली हाईकोर्ट में अटका हुआ है और कोर्ट ने चुनाव आयोग तथा नीतीश कुमार को नोटिस भेजा है.

इधर नये घटनाक्रम में शनिवार को अली अनवर पटना स्थित लालू प्रसाद के आवास पहुंचे. उन्होंने लालू से मिले तथा उनसे लंबी बात की. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान उनकी लालू प्रसाद से काफी देर तक बात हुई और कई बिंदुओं पर विमर्श हुए. बताया जाता है कि आगे की रणनीति पर भी बात हुई है. बाद में अली अनवर वहां से निकलने के बाद मीडिया से भी रूबरू हुए. मीडिया से बात करने के दौरान उन्होंने नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा.

अली अनवर ने मीडिया से बात करते हुए दो टूक कहा कि लालू प्रसाद हम सबके नेता हैं और वे पहले भी रहे हैं. उनके नेतृत्व में एनडीए के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ी जायेगी. उन्होंने कहा कि भाजपा के खिलाफ सबों को एकजुट होने की जरूरत है. इसके संकेत भी मिल रहे हैं. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि हम के जीतनराम मांझी और रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा भी हमलोग के साथ आ जाएं. उनके लिए हमलोगों का दरवाजा हमेशा खुला हुआ है. हमें अब नरेंद्र मोदी को हराने के लिए एक साथ आना होगा.

नीतीश कुमार पर उन्होंने जम कर चुटकी ली. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार की जनता के साथ धोखा किया है. उन्हें ठगने का काम किया है. नीतीश जी पहले कहते थे कि मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा में नहीं जाएंगे, पर वो उसी भाजपा की गोद में जाकर बैठ गये. उन्होंने कहा कि नीतीश जी अगर कुछ दिन और इंतजार कर लेते तो वे बिहार के बजाय आज पूरे देश के नेता होते. अली अनवर ने नीतीश गुट के प्रवक्ताओं पर कहा कि हमलोग छुटभैये और टूटपुंजिये लोगों पर ध्यान नहीं देते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*