मिल गई इन तीनों की तिकड़ी, तो बड़े से बड़ा टारगेट भी हो जाता है आसान

पटनाः सभी घाटों पर जिला प्रशासन की उत्कृष्ट व्यवस्थाओं के बीच लगभग 15 लाख श्रद्धालुओं ने पटना नगर क्षेत्र के 101 घाटों पर उदीयमान सूर्य को दिया. श्रद्धालुओं ने प्रशासनिक व्यवस्था की मुक्त कंठ से प्रशंसा की. जिलाधिकारी पटना संजय कुमार अग्रवाल ने नगर निगम एवं बुडको के पदाधिकारियों को निदेश दिया था कि संध्या अर्घ्य के उपरांत सभी घाटों की समुचित सफाई के साथ-साथ घाटों का सुदृढ़ीकरण रात में ही सुनिश्चित करें ताकि सुबह के अर्घ्य के दौरान श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी नहीं हो.

जिलाधिकारी के निदेश के आलोक में सभी दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों ने सुबह 2.00 बजे से पुनः अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर उपस्थिति दर्ज की. जिन घाटों पर श्रद्धालु रात्रि में रुके थे उन घाटों के दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों  घाट पर ही पूरी रात बने रहे. जिलाधिकारी अहले सुबह से ही सभी घाटों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराया.

वहीं यातायात व्यवस्था की लगातार मॉनिटरिंग की जाती रही. सभी घाटों पर अपार भीड़ दिखी. घाटों पर तैनात दण्डाधिकारों एवं पुलिस पदाधिकारियों से लगातार सभी घाटों के संबंध में जानकारी ली जाती रही. आयुक्त पटना आनंद किशोर ने जिलाधिकारी पटना संजय कुमार अग्रवाल को छ्ठ पर्व के उत्कृष्ट आयोजन के लिए बधाई दी. जिलाधिकारी ने सभी दंडाधिकारियों को निदेश दिया है कि वे तब तक अपने प्रतिनियुक्ति स्थल पर बने रहेंगे जब तक घाट पूरी तरह से खाली न हो जाये.

जिलाधिकारी स्वयं भ्रमणशील रहकर श्रद्धालुओं के सुरक्षित वापसी की व्यवस्था का अनुश्रवण कर रहे हैं. जिलाधिकारी ने सभी दण्डाधिकार्यों, पुलिस पदाधिकारियों, बुडको, नगर निगम, पेसू, NDRF, के पदाधिकारियों एवं कर्मियों सहित सभी घाटों के पूजा समितियों को भी दी बधाई.

इधर पटना के कालीघाट पर जोनल कमिश्नर आनंद किशोर, डीएम संजय अग्रवाल और एसएसपी मनु महाराज को सम्मानित किया गया. पटना के लोगों को इन तीनों अधिकारियों पर फक्र है. इन तीनों ने साफ कर दिया है कि अगर तालमेल सही हो तो बड़े से बड़ा आयोजन भी सफल हो सकता है.