जज्बे को सलाम है, शहीद की पत्नी ने अपने कांधों पर उठा ली पति की अर्थी

लाइव सिटीज डेस्कः दामन में पति की मौत का गम. जिनके साथ बुढ़ापा गुजारने के सपने देखे थे. जिनसे जीवन की सारी उम्मीदें थीं. हर सुख-दुख में साथ रहने की कसमें खाई थीं. अग्नि के सात फेरों के साथ ही सात वचनों को निभाने का बीड़ा उठाया था. जिसके लिए करवाचौथ का व्रत रखती रही. उसी पत्नी ने जब अपने सुहाग का शव कांधे पर उठाया. अर्थी को कांधा दिया. तो वहां मौजूद लोगों का कलेजा फट गया. ये उस शहीद बीके यादव की पत्नी थीं जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दे दी. सबकी आंखे नम थीं उस नजारे को देख कर.

शहीद पति को की अर्थी को कांधा देती पत्नी
शहीद पति को की अर्थी को कांधा देती पत्नी

अभी आंखों में आंसू सूखे भी नहीं थे शहीद की पत्नी के. चल पड़ी पति की अर्थी को कांधा देने. ये अपने आप में सशक्त महिला का एक चेहरा था. समाज के लिए कड़ा संदेश भी था. उनके लिए जो कहते हैं बेटियां बोझ होती हैं. अपना भार नहीं उठा सकतीं. एक नयी मिसाल कायम की है शहीद बीके यादव की पत्नी ने.

लोगों के लिए आसान नहीं था बर्दाश्त कर पाना. शहीद की पत्नी के सामने अब सारा जीवन पड़ा है. बच्चों की जिम्मेदारी भी हैं. समाज को भी झेलना है पूरी जिन्दगी. फिर भी संकोच नहीं है दिल में. अपने शहीद पति की अर्थी को अपने कांधे पर रख घर से विदा किया. बड़ा हिम्मत का काम किया है इस औरत ने.

दर्द की इस घड़ी में सिर्फ मां ही नहीं थीं. उनके साथ शहीद बीके यादव की बेटी भी थी. उसने पिता का हक अदा कर दिया. जब मां और बेटी ने उस इंसान की अर्थी को कांधा दिया जो किसी के सुहाग के साथ एक पिता भी थे. वैसे तो कुछ दिनों पहले बक्सर में भी ऐसी तस्वीर देखने को मिली थी जब बेटियों ने पिता को कांधा दिया था. लेकिन भागलपुर का नजारा कुछ और ही था. एक तरफ मां थी तो दूसरी ओर उनकी बेटी.

बता दें कि जम्मू कश्मीर में शहीद हुए भागलपुर के लाल को गुरुवार को नम आंखों से लोगों ने अंतिम विदाई दी. भागलपुर के कहलगांव में उनका अंतिम संस्कार किया गया. लोग शहीद बेटे के जयकारे के नारे लगा रहे थे. हर चेहरा गमगीन था. हर आंख में आंसू थे.

मालूम हो कि श्रीनगर के बारामूला में कहलगांव के रहनेवाले बीएसएफ जवान बृजकिशोर यादव मंगलवार को शहीद हुए थे. वे बीएसएफ में एएसआई के पद पर कार्यरत थे तथा आतंकी हमले में वे शहीद हो गये थे. कल उनका पार्थिव शरीर कहलगांव लाया गया था.

शहीद बीएसएफ जवान बृजकिशोर यादव का गुरुवार को कहलगांव के गंगाघाट पर अंतिम संस्‍कार किया गया. अंमित संस्कार राजकीय सम्‍मान के साथ हुआ. शहीद के बेटे ने उन्‍हें मुखाग्नि दी. गौरतलब है कि इससे पहले शहीद के पार्थिव शरीर पर कमिश्नर समेत आईजी सुशील मानसिंह खोपड़े, डीएम आदेश तितरमारे, डीआईजी विकास वैभव, एसएसपी मनोज कुमार, ट्रेनी आईपीएस जितेंद्र कुमार समेत स्थानीय कांग्रेस विधायक सदानंद सिंह आदि ने श्रद्धासुमन अर्पित किये.

यह भी पढ़ें-

RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)