Good News : डॉक्टरों की बड़ी बहाली पटना जिले में जल्द, मिल गयी अनुमति

लाइव सिटीज डेस्क : प्राइवेट डॉक्टरों के लिए सुनहरा मौका. डॉक्टरों की जल्द ही बहाली निकलने वाली है. यह बहाली पटना जिले में होगी. सूत्रों की मानें तो डॉक्टरों की बहाली की अनुमति ​भी मिल गयी है. बस रोस्टर क्लियर होने का इंतजार है.

जी हां, जल्द ही पटना जिले में टेंडर पर डॉक्टरों की बहाली होगी. इसके तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्रों में टेंडर पर 200 डॉक्टरों की नियुक्ति होनेवाली है. दरअसल पटना जिले में लगभग 200 डॉक्टरों की कमी है. इसकी वजह से तैनात डॉक्टरों पर काम का लोड बढ़ गया है. साथ ही समय पर मरीजों का इलाज नहीं हो पाता है.

सूत्रों की मानें तो फुलवारीशरीफ, बेलची, घोसवारी, अथमलगोला, बिक्रम, मोकामा, पंडारक, बख्तियारपुर, दुल्हिनबाजार, धनरुआ, नौबतपुर समेत अन्य प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टरों की कमी देखी जा रही है. यहां के लोगों की भी अक्सर शिकायत रहती है कि किसी अस्पताल में कहीं डॉक्टर ही नहीं है, तो कहीं कंपाडर की कमी है. ऐसे में लोगों को अस्पतालों से कोई खास लाभ नहीं मिल पाता है और उन्हें इलाज के लिए शहरी अस्पताल जाना पड़ता है अथवा प्राइवेट क्लिनिकों में अपना इलाज कराना पड़ता है.

बताया जाता है कि 200 डॉक्टरों की कमी को देखते हुए बहाली के लिए​हेल्थ वि​भाग को जिला के स्तर पर प्रस्ताव भेजा गया, जिस बहाली की अनुमति भी सरकार की ओर से मिल गयी है. सिविल सर्जन डॉ. जीएस सिंह ने इसकी पुष्टि भी की है. बस रोस्टर क्लियर होने का इंतजार किया जा रहा है. डॉक्टरों की यह बहाली वॉक इन इंटरव्यू के तहत होगी.

बता दें कि पटना जिले में पीएचसी और एपीएचसी की संख्या लगभग 30 है. वहीं स्वास्थ्य विभाग की मानें तो एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कम से कम सात डॉक्टर होने चाहिए. इनमें तीन रेगुलर और चार संविदा का प्रावधान बनाया गया है. लेकिन सूत्रों की मानें तो जिले के कई ऐसे पीएचसी हैं, जहां यह कोरम पूरा नहीं होता है. कहीं तीन हैं, तो कहीं चार ही डॉक्टर हैं.

इसे भी पढ़ें : शिड्यूल तैयारः बड़े पैमाने पर बहाली जल्द, हाईस्कूल और +2 में भरे जाएंगे शिक्षक