भाजपा को झटका : मीरा कुमार को हरानेवाले सांसद राष्ट्रपति चुनाव में नहीं डाल सकेंगे वोट

लाइव सिटीज डेस्क : राष्ट्रपति चुनाव को लेकर बिहार में सियासत तेज है. बिहार की बेटी मीरा कुमार को लेकर महागठबंधन में उथल-पुथल मचा हुआ है. लेकिन ताजा खबर में चुनाव आयोग ने भाजपा को झटका दे दिया है. लोकसभा चुनाव में मीरा कुमार को हराने वाले भाजपा सांसद राष्ट्रपति चुनाव में वोट नहीं दे पाएंगे.

बता दें कि राष्ट्रपति पद के होनेवाले चुनाव में यूपीए ने मीरा कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है. वहीं एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद हैं. इन दोनों के समर्थन के नाम पर एक सप्ताह से बिहार का पॉलिटिकल कॉरिडोर में सरगर्मी बढ़ी हुई है. मामला इतना बढ़ गया कि महागठबंधन टूट के कगार पर पहुंच गया, लेकिन अचानक दिग्गज नेताओं के डैमेज कंट्रोल की कोशिश ने स्थिति को संभालने का काम किया.

इधर चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर भाजपा को झटका देने का काम किया है. पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की उम्मीदवार मीरा कुमार को हरानेवाले भाजपा सांसद छेदी पासवान राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपना वोट नहीं गिरा पायेंगे. निर्वाचन आयोग ने इस संबंध में छेदी पासवान को पत्र भेज दिया है. निर्वाचन आयोग ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा 2016 में पारित आदेश के अनुसार वे संसद में भाग लेने और वेतन समेत अन्य सुविधा लेने के हकदार होंगे. लेकिन राष्ट्रपति चुनाव में मतदान नहीं कर पायेंगे. बता दें कि 17 जुलाई को राष्ट्रपति चुनाव की वोटिंग होनी है.

गौरतलब है कि सांसद छेदी पासवान के निर्वाचन को लेकर सुप्रीम कोर्ट में मामला चल रहा है. पिछले साल पटना हाईकोर्ट ने सांसद छेदी पासवान की सदस्यता रद्द कर दी थी. उन पर आरोप था कि उन्होंने चुनाव के समय दिए हलफनामे में अपने कुछ आपराधिक रिकार्ड छिपा लिये थे. इसके बाद मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 28 जुलाई 2016 को पटना हाईकोर्ट के आदेश पर स्टे लगा दिया है. बहरहाल राष्ट्रपति चुनाव में वोटिंग से रोके जाने पर भाजपा को झटका लगा है.

इसे भी पढ़ें : चंदवा की उम्मीद : बाबूजी पीएम न बन सके, पर नीतीश चाहें तो मीरा बन जाएं राष्ट्रपति 
अब बिहार की बेटी ने दी सोशल मीडिया पर दस्तक, आते ही छा गयीं