टॉपर घोटाला सीजन 1 : लालकेश्वर समेत 9 के खिलाफ इडी ने दर्ज कराया मामला

lalkeshwar
लालकेश्वर प्रसाद (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : इस साल इंटरमीडिएट के रिजल्ट में आयी गिरावट को लेकर छात्रों का आक्रोश अभी थमा नहीं है. आर्ट्स टॉपर गणेश का मुद्दा अभी गरम है. इसी बीच पिछले साल हुए इंटर टॉपर घोटाले में अब नया मोड़ आ गया है. मुख्य आरोपी लालकेश्वर प्रसाद समेत अन्य की परेशानी बढ़ गयी है. सूत्रों की मानें तो उनके खिलाफ अब प्रवर्तन निदेशालय ने मामला दर्ज किया गया है.

बता दें कि वर्ष 2016 में इंटर टॉपर घोटाला सामने आया था. फर्जीवाड़े के जबर्दस्त खेल में रुबी राय को आर्ट्स का टॉपर बना दिया गया था. रुबी राय के पॉलिटिकल साइंस को प्रोडिकल साइंस बोले जाने पर इस मामले ने तूल पकड़ लिया. जांच के बाद रूबी राय के साथ साथ उनके पिता को भी जेल जाना पड़ा. इतना ही नहीं, इस मामले में बिहार बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष लालकेश्वर, उनकी पत्नी उषा सिन्हा और विशुन रॉय कॉलेज के बच्चा राय सचित दर्जनों लोग जेल में बंद हैं. इसमें कुल आरोपियों की संख्या 41 है.

इसी मामले में पिछले अप्रैल माह में एसआईटी ने मुख्य आरोपी लालकेश्वर प्रसाद, उषा सिन्हा, बच्चा राय समेत 32 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था. दरअसल उनलोगों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य पाये गये थे. अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है. बिहार बोर्ड के तत्कालीन अध्यक्ष लालकेश्वर प्रसाद समेत 9 लोगों पर प्रवर्तन निदेशालय ने अलग से मामला दर्ज किया है. सूत्रों के अनुसार इस नये मामले से इंटर टॉपर घोटाला में नया मोड़ आ गया है. आरोपियों की परेशानी और बढ़ गयी है.

खास बात कि इस साल भी इंटरमीडिएट के रिजल्ट को लेकर सूबे में बवाल मचा हुआ है. आर्ट्स के टॉपर गणेश पर हंगामा मचा हुआ है. तीन दिनों से छात्रों का प्रदर्शन इंटर काउंसिल के निकट जारी है. छात्रों के आक्रोश को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी संग दो बार मीटिंग कर चुके हैं. वहीं अब पिछले साल के टॉपर घोटाले में इडी द्वारा मामला दर्ज किये जाने के बाद रूबी राय से लेकर लालकेश्वर तक लोगों के बीच छा गये हैं.

इसे भी पढ़ें : इंटर टॉपर घोटाला में 9 और लोगों के खिलाफ चार्जशीट, अब तक कुल 41