लालू पर CBI का बड़ा खुलासा, होटलों के टेंडर में हुई थी हेराफेरी, राबड़ी व तेजस्वी पर भी FIR

लाइव सिटीज डेस्क : राजद सुप्रीमो व पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर हुई छापेमारी में सीबीआई ने बड़ा बयान दिया है. सीबीआई ने बाजाप्ता प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि रांची और पुरी के दो होटलों के रखरखाव के लिए दिये गये टेंडर में काफी हेराफेरी हुई है. इसमें लालू प्रसाद, राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव समेत सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है.
सीबीआई के अधिकारी राकेश अस्थाना ने प्रेस को बताया कि यह मामला साल 2006 का है. रांची और भुवनेश्वर स्थित पुरी के बीएनआर होटलों के विकास, रखरखाव और संचालन के लिए टेंडर में कथित अनियमितता पाये जाने के संबंध में यह मामला दर्ज किया गया है. ये टेंडर निजी सुजाता होटल्स को दिये गये थे. दोनों होटलों को आईआरसीटीसी को ट्रांफर किया गया था.
सीबीआई ने बताया कि मामला इसी माह पांच जुलाई को दर्ज किया गया. इसमें पूर्व रेलमंत्री लालू प्रसाद, उनकी पत्नी राबड़ी देवी व पुत्र तेजस्वी यादव समेत सरला गुप्ता, विजय कोचर, विनय कोचर, पीके गोयल को अभियुक्त बनाया गया है. सीबीआई अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार की सुबह साढ़े 7 बजे सीबीआई ने छापेमारी शुरू की और यह अभी जारी है. केस दर्ज किए जाने के बाद दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम सहित 12 स्थानों पर छापेमारी की गई है.

यह भी पढ़ें-

सीबीआई रेड से डरने वाला नहीं लालू परिवार, विरोधियों को दबाने का नया तरीका अपना रहा है केंद्र
लालू के ठिकानों पर CBI रेड से बिहार में अलर्ट, सभी जिलों के एसपी को सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश
लालू प्रसाद के 12 ठिकानों पर सीबीआई का छापा, पटना से लेकर दिल्ली चल रही रेड