चंद्रबाबू नायडू ने दिये सुझाव, बंद हों 500 और 2000 के नोट

chandrababu-naidu

लाइव सिटीज डेस्क : नोटबंदी के बाद देश में जारी हुए नये 500 और 2000 नोट को लेकर लोगों में असमंजस की स्थिति बनी रहती है. इसे लेकर वे आशंकित रहते हैं कि कहीं वह नकली तो नहीं है.

खासकर गांवों में तो 500 और 2000 के नये नोटों को लेकर अब भी प्रॉब्लम हो रही है. खासकर 2000 के नोट को भुनाने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है.

ऐसे में आंध्र पद्रेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू का सुझाव मायने रखता है. उन्होंने 500 और 2000 के नोटों को बंद करने का सुझाव दिया है.

 

गौरतलब है कि चंद्रबाबू नायडू डिजिटल इकॉनमी पर सुझावों के लिए गठित मुख्यमंत्रियों के पैनल के मुखिया भी हैं. उन्होंने कहा कि डिजिटल पेमेंट्स को बढ़ावा देने के लिए ऐसे बड़े नोटों को बंद करने की जरूरत है.

उन्होंने यह भी कहा कि सबसे पहले मैं ही पुराने नोटों में 500 और 1000 को बंद करने की मांग की थी. अब वक्त आ गया है कि 500 और 2000 रुपये के नोटों को हटाये जाएं. इनके हटाने से ही डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिलेगा.

इसे भी पढ़ें : ‘बकने दो भाजपाइयों को, हम ‘विकास’ में मस्त हैं’ 

बबलू दुबे हत्याकांड में कुणाल का ऑडियो टेप हुआ वायरल

मालूम हो कि देश ही नहीं बिहार के गांवों में भी 2000 रुपये के नोट को लेकर काफी परेशानी होती है. गांवों के बाजार में तो इस नोट को भुनाने वाला जल्दी कोई नहीं मिलता है. यदि एटीएम से 2000 रुपये वाला नोट निकल जाता है तो बड़ी आफत हो जाती है.

बता दें कि पूरे देश में 8 नवंबर को अचानक पुराने 500 और 1000 रुपये के नोट का प्रचलन बंद कर दिया गया था. बाद में 500 और 2000 के नये नोट जारी किये गये.

इधर चंद्रबाबू नायडू के सुझाव पर कितना अमल होता है, यह तो नहीं कहा जा सकता है, लेकिन बड़े नोट छोटे लोगों के लिए परेशानी का सबब जरूर है.