सीएम नीतीश ने बुलायी जदयू विधायकों की आपात बैठक, होगा बड़ा फैसला

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में महागठबंधन में मचे सियासी घमासान के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू विधायकों की आपात बैठक बुलायी है. यह बैठक कई मायनों से बहुत महत्वपूर्ण है. अभी से पॉलिटिकल कॉरिडोर में इसे लेकर जबर्दस्त चर्चा शुरू हो गयी है. कहा जा रहा है कि इसमें डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर कोई बड़ा फैसला हो सकता है.

बता दें कि राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के तेजस्वी यादव के इस्तीफा नहीं देने के बयान आने के बाद जदयू का राजद पर हमला तेज हो गया है. शनिवार को नये घटनाक्रम में पटना के एक सरकारी कार्यक्रम में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव के नेम प्लेट को अचानक ढक दिया गया. तेजस्वी यादव का यह नेम प्लेट मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेम प्लेट के बगल में ही रखा गया था. इसके पीछे महागठबंधन के रिश्ते में आयी तल्खी को देखा जा रहा है. इतना ही नहीं, आज ही जदयू विधायक श्याम रजक ने भी लालू प्रसाद पर बड़ा हमला कर दिया.

ऐसे में अचानक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा रविवार को जदयू विधायकों की बुलायी गयी बैठक से पॉलिटिकल कॉरिडोर में एक बार फिर उथल-पुथल मच गया है. यह बैठक सीएम के सरकारी आवास एक अणे मार्ग में बुलायी गयी है. चर्चा है कि बैठक में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर कोई बड़ा फैसला हो सकता है. दरअसल महागठबंधन में तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर दो तीन दिनों से तल्खी काफी तेजी से बढ़ी है.

गौरतलब है कि बीती रात जहां कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी ने नीतीश कुमार और लालू प्रसाद से उनके आवास पर जाकर मुलाकात की थी. वहीं दिन में कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी दोनों दिग्गज नेताओं से फोन पर बात की थी. एक समय तो बात बनती दिखी भी. लेकिन, अचानक शुक्रवार की रात में लालू प्रसाद के यह कहने पर कि तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे तो मामला बिगड़ गया. बयानों में कड़े तेवर दिखने लगे.

शनिवार को बदलते घटनाक्रम में तेजस्वी यादव का नेम प्लेट ढका जाना, फिर लालू प्रसाद पर ‘अनाप-शनाप’ बयान देने का आरोप लगाया जाना महागठबंधन के रिश्ते में आयी खटास की ओर इशारा करने लगा है. न्यूज एजेंसी के अनुसार इसी बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को जदयू विधायकों की बैठक बुलायी है. पॉलिटिकल कॉरिडोर में हो रही चर्चा की मानें तो एक अणे मार्ग में होनेवाली बैठक में तेजस्वी यादव पर कोई बड़ा फैसला हो सकता है. उन्हें बर्खास्त करने की भी कार्रवाई हो सकती है. हालांकि एक तबका यह भी मान रहा है कि सोमवार को राष्ट्रपति चुनाव है, संभव है कि बैठक इसके लिए भी बुलायी गयी हो. बहरहाल अचानक जदयू विधायकों की बैठक को लेकर बिहार में सियासत तेज हो गयी है और इस पर पूरे देश की नजर है.

इसे भी पढ़ें : बड़ी खबर : नीतीश के बगल में लगा डिप्टी सीएम तेजस्वी का नेम-प्लेट ढंक दिया गया 
अब लालू नहीं, नीतीश तय करें उन्हें क्या करना है