अब इनके लिए आरक्षण चाहते हैं CM नीतीश कुमार, कहा – डिबेट होना चाहिए

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार में आरक्षण के नाम पर बवाल मचा हुआ है. सीएम नीतीश कुमार ने एक बार फिर से आरक्षण के मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है. यूं कहें कि बिहार में अभी आरक्षण ही आरक्षण हो रहा है. एक तरफ श्याम रजक पार्टी में रहकर ही विरोध के मुद्रा में हैं. इसी बीच लोक संवाद कार्यक्रम के बाद सीएम नीतीश कुमार ने अब एक और आरक्षण की बात कर दी है.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि आरक्षण के मुद्दे पर डिबेट होना चाहिए. उन्होंने कहा कि हम जाट और मराठा आरक्षण के भी पक्षधर हैं. उन्होंने कहा कि महिला आरक्षण के मुद्दे पर हमारी राय स्पष्ट है और हम इस पर कायम रहेंगे.

पटना में चल रहे लोक संवाद कार्यक्रम के बाद नीतीश कुमार प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे जिस दौरान उन्होंने यह बातें कहीं. उन्होंने कहा कि शौचालय घोटाला मामले की जांच की जा रही है और जो भी दोषी पाए जाएंगे उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगीच.

बाल विवाह और दहेज प्रथा पर लगाम लगाने के लिए राज्य सरकार काम कर रही है. इससे एक सामाजिक बदलाव आएगा और इसके लिए सबका साथ आना जरूरी है. नीतीश कुमार ने कहा कि सबको अपनी राय रखने की आजादी है. जो भी लोग गड़बड़ी कर रहे हैं उन्हें एक्सपोज करना चाहिए.

जाहिर है कि सीएम नीतीश कुमार के आरक्षण पर दिए गए एक और बड़े बयान के बाद से बिहार ही नहीं देश की सियासत गरमा गई है. नीतीश कुमार बिहार के सीएम हैं. इसके साथ ही सीथ वे जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं. यही वजह है कि उनका आरक्षण पर दिया गया यह बयान काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. ऐसे में देखना यह होगा कि विपक्ष उनके इस बयान को किस तरह से लेता है.

About Md. Saheb Ali 4925 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*