देख लें, पटना में खतरनाक छठ घाटों की लिस्ट, नहीं जाने की अपील कर रहा है प्रशासन

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार समेत पूरे देश में आस्था के महापर्व छठ धूम-धाम से मनाया जा रहा है. छठ को लेकर पूरे बिहार के छठ घाटों पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं. प्रशासन की ओर से लगातार छठ घाटों की मॉनिटरिंग की जा रही है. इसके साथ ही लोगों से सुरक्षित रहने की अपील भी की जा रही है. इधर राजधानी पटना में भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. इन इंतजामों के बीच जिला प्रशासन को किसी तरह की अनहोनी की चिंता सता रही है. पटना जिला प्रशासन की ओर से कुल 23 घाटों को डेंजर घोषित किया गया है. उन घाटों पर जाने से बचने की अपील की जा रही है.

खतरनाक घोषित किए गए घाट

  • मीनार घाट
  • जहाज घाट
  • शिवा घाट
  • रामजीचक घाट
  • इलाहिबाग घाट
  • पटनासिटी का खाजेकलां घाट
  • केशव राय घाट
  • मिरचाई घाट
  • अदरक घाट
  • गरेरिया घाट
  • पिर्दामारिया घाट
  • नंदगोला घाट
  • नुरुद्दीन घाट
  • शिव घाट
  • महावीर घाट
  • नयापंच मुखिया चौराहा घाट
  • नया मंदिर घाट
  • त्रिवेणी घाट फतुहा
  • कटया घाट फतुहा
  • नासरीगंज घाट
  • नारियल घाट
  • हल्दीछपरा घाट
  • महावीर घाट शामिल हैं.

डीएम संजय अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत में खतरनाक घाटों की लिस्ट को शेयर किया. उन्होंने कहा है कि सभी खतरनाक घाटों की पर अतिरक्त पुलिस बल की तैनाती रहेगी. जो लोगों को घाट पर जाने से रोकेंग. साथ ही घाट को लाल रंग के कपड़े से घेर दिया जाएगा, ताकि लोगों को खतरनाक घाट की पहचान हो सके. डीएम ने कहा कि हर घाट पर एनडीआरएफ और मेडिकल की टीमें तैनात रहेंगी.

बता दें कि वहीं आज गुरुवार को छठ व्रति अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य देंगे. इसके बाद शुक्रवार की सुबह उदीयमान भगवान भासकर को अर्घ्य के साथ ही छठ महापर्व का समापन हो जाएगा. शहर में 100 से ज्यादा घाटों के अलावा 45 तालाबों में छठव्रतियों के भगवान भास्कर को अर्घ्य देने की व्यवस्था की गई है.