यह बिहार की बेटी दुबई में बढ़ाएगी देश का मान, अंडर-19 फुटबॉल टीम में हुई सलेक्ट

लाइव सिटीज डेस्कः कटिहार बिहार का काफी पिछड़ा इलाका माना जाता हैं. यहां घूंघट का प्रचलन आम है. लड़कियां अकेली घर से बाहर निकलने में सोचती हैं. इन्हीं सब सामाजिक बंदिशों के बीच हाफ-पैंट और टीशर्ट से साथ स्पोर्ट्स शू पहने एक बेटी अपने प्रदेश के साथ-साथ देश का नाम बढ़ाने में जुटी है. मैडम माराडोना के नाम से जानी जाती हैं. नाम है पूजा.

पूजा के पैरेंट्स बेचत हैं सब्जी

पूजा का सलेक्शन अंडर 19 राष्ट्रीय फुटबॉल टीम में हो गया है. कटिहार के लोहिया नगर की रहने वाली पूजा के पिता रामजन्म चौहान और मां सजनी देवी सब्जी बेचते हैं. कटिहार गांधी उच्च विधालय की 10वीं की छात्रा जर्सी नंबर 10 के साथ जब मैदान में उतरती हैं, तो विपक्षी टीम पर कहर बरपाती हैं.

मुजफ्फरपुर टीम की तरफ से खेलते हुए हाल में पटना में संम्पन ऊर्जा टैलेंट सर्च टूर्नामेंट में सबसे अधिक 10 गोल दागने पर उसे मैन ऑफ द टूर्नामेंट के खिताब से नवाजा गया है. अब राष्ट्रीय स्तर पर मौका मिलने पर पूजा पहले रायगढ़ और फिर दुबई में अपने को साबित करने को बेताब हैं.

पूजा का कहना है कि वो रोज शाम में स्कूल जाकर फुटबॉल की प्रैक्टिस करती हैं. सुबह स्कूल जाने और परिवार के काम में हाथ बंटाने के कारण उसे समय नहीं मिल पाता है. उसका कहना है कि समाज के जिन लोगों ने उसे सब्जी वाली की बेटी का तगमा दिया है अब वो लोग अपना नजरिया बदल लेंगे. साथ ही वो उन पैरेंट्स से अपील करती हैं कि बेटियों का बाल विवाह नहीं करें. आज बेटी और बेटे में कोई फर्क नहीं है.

पांच भाई-बहन में तीसरी हैं पूजा

पांच भाई-बहन के परिवार में पूजा तीसरे नंबर की है. पूजा को भी परिवार के पेट भरने के लिए फुटबॉल के मैदान की तरह असल जिंदगी में भी हर रोज स्ट्राइकर की भूमिका निभानी पड़ती है. पूजा ना सिर्फ स्कूल में पढ़ाई करती है बल्कि फुटबॉल खेलने के साथ मां-बाप की सब्जी की दुकान में भी हाथ बंटाती है. पापा के कदम थक जाने पर पूजा सब्जी का ठेला खिंचने में भी संकोच नहीं करती है.

पूजा जिस घर से आती है उस परिवार के लिए विदेश जाना ख्वाब से कम नहीं है. पूजा की मानें तो उसकी इस उंचाई तक पहुंचनेे में परिवार ने भरपूर साथ निभाया. आगे पूजा एक सफल फुटबॉल खिलाड़ी बनना चाहती है.

यह भी पढ़ें-

भारत के 500 गांव गोद लेंगे US के NRI, किसान सुसाइड वाले इलाकों पर फोकस
लालू प्रसाद की सीबीआई कोर्ट में हुई पेशी, हाजिरी लगा लौटे घर
प्रेशर में हैं आनंद किशोर, 15 जून तक आ सकता है मैट्रिक का रिजल्ट