Exclusive Interview में पटना DM ने बताया, इस छठ क्या-क्या है आपके लिए खास

पटना (जुलकर नैन) : आस्था के महापर्व छठ पूजा को लेकर राजधानी पटना में तैयारियां अंतिम दौर में हैं. जिला प्रशासन की ओर से पूरी कोशिश है कि छठ कर रहे लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो. पटना डीएम संजय अग्रवाल भी ग्राउंड जीरो पर हैं. लगातार छठ घाटों का जायजा लिया जा रहा है. शनिवार को भी डीएम ने पटना आयुक्त आनंद किशोर के साथ छठ घाटों की मॉनिटरिंग की थी. आज फिर पहुंचे थे. इसी दौरान लाइव सिटीज से खास बातचीत में कई महत्वपूर्ण जानकारियां शेयर की.

जिलाधिकारी संजय अग्रवाल ने बताया कि महापर्व को लेकर छठ पूजा पटना मोबाइल एप लांच किया गया है. इस एप में सभी पधाधिकारियों का नंबर, नाम, घाठ इंचार्ज का नम्बर सहित घाट पर मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी रहेगी. किस घाट की दुरी सड़क से कितनी हैं, साथ ही कितने तरह की सहायता ब्लॉक दिये गये हैं, सब जानकारी रहेगी.

डीएम ने पटनावासियों से आग्रह भी किया कि वो इस एप को अपने मोबाइल में इंस्टाल कर लें, ताकि किसी भी श्रद्धालु को दिक्कत ना हो. उन्होंने कहा कि इस बार कुल 23 घाटों को खरतनाक घोषित किया गया है. इनमे मीनार घाट, जहाज घाट, शिवा घाट, रामजीचक घाट, इलाहिबाग घाट, पटनासिटी का खाजेकलां घाट, केशव राय घाट, मिरचाई घाट, अदरक घाट, गरेरिया घाट, पिर्दामारिया घाट, नंदगोला घाट, नुरुद्दीन घाट, शिव घाट, महावीर घाट, नयापंच मुखिया चौराहा घाट, नया मंदिर घाट, त्रिवेणी घाट फतुहा, कटया घाट फतुहा, नासरीगंज घाट, नारियल घाट, हल्दीछपरा घाट, महावीर घाट शामिल हैं.

सभी खतरनाक घाटों की पर अतिरक्त पुलिस बल की तैनाती रहेगी. जो लोगों को घाट पर जाने से रोकेंग. साथ ही घाट को लाल रंग के कपड़े से घेर दिया जाएगा, ताकि लोगों को खतरनाक घाट की पहचान हो सके. डीएम ने कहा कि हर घाट पर एनडीआरएफ और मेडिकल की टीमें तैनात रहेंगी.