पप्पू यादव हत्याकांड : फतुहा के थानेदार लाइन हाजिर, मनु महाराज ने लिया एक्शन

manu maharaj

पटना (जुलकर नैन): प्याज व्यवसायी और राजद नेता पप्पू यादव की मंगलवार की अहले सुबह अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. घटना के समय वे टहलने के लिए निकले थे. एसएसपी मनु महाराज ने इस घटना को गंभीरता से लिया है. उन्होंने सख्त कदम उठाते हुए फतुहा के एसएचओ सुजीत कुमार को लाइन हाजिर कर दिया है. बताया जाता है कि फतुहा के थानेदार के खिलाफ लोगों की लगातार शिकायत मिल रही थी. वहीं हत्या के विरोध में लोगों ने नेशनल हाइवे को जाम कर दिया.

दूसरी ओर प्याज व्यवसायी पप्पू यादव के मामले में पुलिस ने अहम सुराग मिलने का दावा किया है. उसे सीसीटीवी के तौर पर अहम सुराग हाथ लगा है. पुलिस इस मामले में हर पहलु की जांच कर रही है. एसएसपी मनु महाराज ने त्वरित कार्रवाई करते हुए थानेदार सुजीत कुमार को पद से हटाते हुए उसे लाइन हाजिर कर दिया है. सूत्रों के अनुसार थानेदार के खिलाफ लोगों की शिकायत थी कि वे सुबह में पेट्रोलिंग नहीं कराते थे. इसके अलावा लोगों की बातों को गंभीरता से नहीं लेने की भी शिकायत मिल रही थी.

manu maharaj

उधर पप्पू यादव हत्याकांड में सूत्रों की मानें तो वारदात के पीछे जमीनी विवाद सामने आ रहा है. बताया जाता है कि पप्पू यादव और नवल यादव के बीच कबीरपंथ से जुड़ी जमीन को लेकर विवाद चल रहा था. नवल यादव पर कबीरपंथ की जमीन पर अपना हक जताने का आरोप है, जबकि पप्पू यादव उसका विरोध कर कबीरपंथ समर्थकों का साथ दे रहे थे. तभी से पप्पू यादव और नवल यादव में तनातनी चल रही थी. पुलिस इस बिंदु पर भी छानबीन कर रही है.

इसे भी पढें : पटना में व्यवसायी और राजद नेता पप्पू यादव की सरेराह गोली मारकर हत्या

घटना के बाबत स्थानीय लोगों का कहना है कि हत्यारों ने चेहरों पर नकाब लगा लिया था और फायरिंग करने के बाद रेलवे कॉलोनी की तरफ ही भाग निकले. आपको बता दें कि मंगलवार की सुबह जब प्याज व्यवसायी पप्पू यादव सुबह की सैर करने निकले थे, तभी अपराधियों ने फतुहा रेलवे गुमटी के पास उन पर अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसायीं. घटनास्थल पर ही उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी. उधर हत्या के विरोध में आक्रोशित लोगों ने नेशनल हाइवे को जाम कर दिया. दोनों ओर गाड़ियों की कतार लग गयी है.