न्यू सेक्रेटेरियट और अभिलेख भवन में लगी आग, मची अफरा-तफरी

पटना : छठ पूजा के माहौल के बीच राजधानी में बुधवार को आग लगने की दो बड़ी घटनाएं हुईं. आग लगने के दोनों हादसे सरकारी दफ्तरों में ही हुए. विकास भवन स्थित न्यू सेक्रेटरियट में आग लगी. बिल्डिंग के सेकेंड फ्लोर पर पशुपालन एंव मत्स्य विभाग का आॅफिस है. आग इस डिपार्टमेंट की सेक्रेटरी डा. एन विजया लक्ष्मी के चेंबर में लगी. पहले तेज धुआं उठा. इसके बाद आग की लपटें ​उठने लगीं. पूरे बिल्डिंग में आग लगने की खबर तेजी से फैली. जिसके बाद वहां मौजूद सारे अधिकारी और स्टाफ के बीच हड़कंप मच गया.

पूरे कैंपस में अफरा-तफरी मच गई. तेजी से लोगों ने भागना शुरू कर दिया. मामले की जानकारी तुंरत सचिवालय थाना और फायर ब्रिगेड की टीम को दी गई. थोड़ी देर में फायर ब्रिगेड की एक-एक कर 4 गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं. टीम ने आग पर काबू पाने का काम शुरू कर दिया. एतिहात के तौर बिजली कनेक्शन को काट दिया गया. कुछ समय की मशक्कत के बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने सेक्रेटरी के चेंबर में लगी आग पर काबू पा लिया.

आग लगने एसी, कंप्यूटर सिस्टम, टेबल और चेयर सहित कुछ इंपॉरटेंट डॉक्यूमेंट भी जल गए. जिस वक्त आग लगी उस दौरान सेक्रेटरी मौके पर मौजूद नहीं थी. आग कैसे लगी, इसका सही कारण नहीं पता चल सका है. लेकिन संभावना जताई जा रही है कि शॉट सर्किट की वजह से आग लगी होगी.

यहां हुआ बड़ा नुकसान

न्यू सेक्रेटेरियट से पहले बेली रोड पर स्थित अभिलेख भवन में आग लगी थी. बिल्डिंग के फर्स्ट फलोर पर कंप्यूटर सेक्शन है. आग इसी सेक्शन में लगी थी. आग लगने की वजह बड़ा नुकसान हुआ है. 5 कंप्यूटर, कई सामान और कई इम्पॉरटेंट डॉक्यूमेंट्स जल कर राख हो गए. यहां सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की तीन युनिट पहुंची. काफी देर की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया. टीम ने मेहनत कर आग की लपटों को बढ़ने नहीं दिया. न्यू सेक्रेटेरियट और अभिलेख भवन में लगी आग के मामले में एक लापरवाही की बात भी सामने आई है. दरअसल, दोनों ही जगहों पर फायर सेफ्टी सिस्टम था. फायर एग्जिस्टर होने के बाद भी उसका इस्तेमाल नहीं किया गया.