गोलियों की तड़तड़ाहट से दहला दरभंगा, दो युवकों की मौत, मरनेवालों में सिपाही का बेटा भी

लाइव सिटीज दरभंगा : दरभंगा के दिल्ली मोड़ बस स्टैंड मंगलवार को गोलियों की तड़तड़ाहट से दहल उठा. दो गुटों के बीच वर्चस्व को लेकर हुई गोलीबारी में दो युवकों की मौत हो गई, जबकि तीसरे को गंभीर स्थिति में दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एडमिट कराया गया है. अचानक हुई गोलीबारी के बाद यात्रियों के बीच भगदड़ मच गई. मामले की जांच के लिए एसएसपी सत्यवीर सिंह ने विशेष पुलिस टीम गठित की है. एसएसपी ने बताया कि बस स्टैंड पर वर्चस्व को लेकर दो गुटों के बीच फायरिंग हुई है. उन्होंने बताया कि मामले में कुख्यात लाल बिहारी यादव का नाम सामने आया है.

एसएसपी के अनुसार मृत्यु के पहले राजू यादव ने पुलिस को बयान दिया है कि उसे लाल बिहारी यादव ने गोली मारी है. मिथिलेश यादव उर्फ बाबा और सर्वेश पासवान राजू व शोयब को घर से बुलाकर लाल बिहारी के बस स्टैंड स्थित होटल पर ले गए थे. राजू यादव के पिता रामाशीष यादव सिंहवाड़ा थाने में सिपाही है.

मरनेवालों में संजय यादव निवासी बगडीहा केवटी तथा राजू यादव छिपकलियां बहादुरपुर के रहनेवाले थे. जबकि, गंभीर रूप से जख्मी शोयब को डीएमसीएच एडमिट कराया गया है. जख्मी शोयब बहादुरपुर स्थित रतनपुर का रहनेवाला है. पुलिस के अनुसार अपराधियों के बीच पहले कहा-सुनी हुई. इसके बाद हाथापाई की नौबत आ गयी. लेकिन मामला यहीं नहीं खत्म हुआ. लाठी-डंडे से मारपीट के बाद फिल्मी स्टाइल में गोली चलने लगी. गोलियों की तड़तड़ाहट से इलाका दहल उठा.

उधर यात्रियों की मानें तो दर्जनों राउंड गोलियां चलीं. घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने जख्मी लोगों को अस्पताल पहुंचाया. राजू यादव और शोयब को पुलिस ने डीएमसीएच पहुंचाया. स्थानीय लोग संजय यादव को लेकर पारस अस्पताल पहुंचे. संजय और राजू को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. शोयब की स्थिति गंभीर है. एसएसपी सत्यवीर सिंह ने पारस अस्पताल और डीएमसीएच पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया. उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है, जल्द ही दोषियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*