मेघालय के गवर्नर गंगा प्रसाद का बिहार से है गहरा नाता, एक नजर उनके राजनीतिक सफर पर

लाइव सिटीज डेस्कः बिहार भाजपा के कद्दावर नेता गंगा प्रसाद चौरसिया को मेघालय का राज्यपाल नियुक्त किया गया है. राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने उन्हें राज्यपाल घोषित किया है. गंगा प्रसाद को बिहार की सियासत में गंगा बाबू के नाम से भी जाना जाता है. पुराने संघी रहे हैं. गायत्री परिवार से जुड़े हैं. भाजपा से पूर्व विधान पार्षद हैं. बिहार की सियासत में इंन्हे अच्छे विचारधारा वाले नेता के रूप में जाना जाता है. लोगों से जुड़े रहे हैं गंगा बाबू.

गंगा प्रसाद चौरसिया का राजनीतिक करियर बहुत लंबा रहा है. 1994 में पहली बार बिहार विधान परिषद के लिए निर्वाचित हुए. 18 साल तक एमएलसी बने रहे. गंगा बाबू भाजपा विधान परिषद में नेता के हैसियत से भी रहे हैं. इतना ही नहीं पांच साल तक विधान परिषद में नेता विपक्ष के पद पर भी रहे.

गंगा बाबू को बिहार की पूर्व एनडीए सरकार में सत्ताधारी पार्टी के विधान परिषद में नेता और फिर बाद में सत्तारूढ़ दल के उप-नेता के रूप में भी चुना गया. फिलहाल गंगा प्रसाद के बेटे संजीव चौरसिया पटना के दीघा विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. साथ ही छोटे बेटे दीपक चौरसिया पटना नगर निगम में पार्षद हैं.

बिहार में भाजपा की बुनियाद मजबूत करने में गंगा प्रसाद का बड़ा योगदान रहा है. पटना के बेली रोड में गंगा बाबू का एक कोल्ड स्टोरेज भी है. इस कोल्ड स्टोरेज में बिहार भाजपा का शायद ही कोई नेता हो जो नहीं गया हो. एक समय था जब इसमें भाजपा की बड़ी-बड़ी बैठकें हुआ करती थीं. कई बड़े फैसले लिए गए इन बैठकों में.

बिहार में जब एनडीए की सरकार सत्ता में आई तो गंगा बाबू को मंत्री का पद नहीं दिया गया. इसी के एवज में उनके बेटे संजीव चौरसिया को पटना के दीघा से टिकट देकर विधायक बनाया गया. वहीं इस दौरान गंगा प्रसाद एमएलसी के पद पर बने रहे. ऐसे में एक बात तो साफ है कि अब जब कि वक्त था उनकी सेवा के एवज में इनाम देने का तो उन्हें मेघालय का राज्यपाल बना दिया गया.

यह भी पढ़ें-

सत्यपाल मलिक बनाए गए बिहार के नए गवर्नर, गंगा बाबू को मेघालय का जिम्मा
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)