GST से बचने का निकल गया है जुगाड़, अब ऐसे हो रही है शॉपिंग

लाइव सिटीज डेस्कः एक तरफ जहां जीएसटी कानून के बाद से बाजार पर गहरा असर पड़ा है तो वहीं अब इससे बचने का जुगाड़ भी निकाल लिया है लोगों ने. राजधानी पटना में बीते एक सप्ताह में ज्वेलरी की खरीदारी में कई गुनी तेजी आई है. धनतेरस से लेकर दीवाली तक सोने की कीमतों में वृद्धि की संभावना को देखते हुए कई ज्वेलरी स्टोर्स में ग्राहक पहुंचने लगे हैं. इधर, कई स्टोर्स ने धनतेरस और वैवाहिक ज्वेलरी की डिलीवरी की बुकिंग शुरू कर दी है. कई स्टोर्स ने बुकिंग और डिलीवरी में से जिस दिन कीमतें कम होंगी, उसे ही पेमेंट के लिए ऑफर कीमत की तरह घोषित की है.

सरकार के पैन और 2 लाख से अधिक की नो कैश पेमेंट नियमों से परेशानी भी है क्योंकि कोई भी ग्राहक अपना डिटेल नहीं देना चाह रहे हैं. हालांकि दुकानदारों ने इसका तोड़ निकाल रखा है और ऐसी हर बिक्री को गोल्ड परचेज की जगह गोल्ड एक्सचेंज दिखा रहे हैं.

इस तरीके से खरीदार अपनी पहचान देने से बच रहे हैं. इससे स्टोर्स भी खुश हैं. उन्हें लगता है कि इससे कम से कम खरीदार तो रहे हैं वरना नोटबंदी और जीएसटी के बाद बाजार की जो हालत हुई थी वह बेहद असहज थी. ऐसे मामलों में ग्राहकों को मेकिंग चार्ज के रूप में 50 हजार से भी कम की राशि देनी होती है और इस तरह वे पीएमएलए केवाईसी नियमों से बच जाते हैं. ज्वेलर्स अपनी इंट्री में गोल्ड एक्सचेंज दिखाते हैं.

इधर पटना के सीए के मुताबिक बीते कुछ महीनों में ज्वेलरी स्टोर्स का कारोबार 80 फीसदी तक सिमट गया था. जीएसटी, केवाईसी और धन शोधन रोकथाम अधिनियम लागू होने से ग्राहक चिंतित थे. पर त्योहारों के कारण अब ग्राहकों ने दुकानों का रुख किया है और यह एक तरह बदली-बदली सी स्थिति है.

आम तौर पर ग्राहक पुराने आभूषणों के बदले नए आभूषण खरीदते हैं और उनकी कीमतों के बीच जितना अंतर होता है, वह पैसा सर्राफ को चुका देते हैं. हालांकि इस बार बहुत से मामलों में ग्राहक पुराने गहने नहीं दे रहे हैं, लेकिन उन्हें ऐसा बिल दिया जा रहा है, जिसमें लिखा होता है कि ग्राहक ने पुराना सोना मुहैया कराया है और ज्वेलर ने मेकिंग चार्ज एवं उस पर 5 फीसदी जीएसटी वसूलकर गहने बेचे हैं.

यह भी पढ़ें-

छठ कर रहे लोगों के लिए जरूरी खबर, इस बार किए गए हैं कई चेंजेज
बिहार में शराबबंदी के बाद अब ये है अगला टारगेट, आज CM नीतीश करेंगे आगाज
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)