पटना के IGIMS में कराना है इलाज तो पहले दिखाइए आधार कार्ड

लाइव सिटीज डेस्कः अब पटना के आईजीईएमएस में इलाज कराने के लिए आधार कार्ड जरूरी होगा. अभी 15 दिनों की रियायत दी गई है. इस दौरान मरीज अपना पहचान पत्र दिखा कर इलाज करवा सकेंगे. इसके लिए वोटर आईडी, लाइसेंस, पासपोर्ट आदि मान्य होंगे. पंजीकरण काउंटर पर नोटिस भी लगा दिया गया है.

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. पीके सिन्हा ने बताया कि कैंसर कई अन्य बीमारियों में सरकार सहायता राशि उपलब्ध करवाती है. वोटर आईडी अन्य दूसरे पहचान पत्र में काफी गड़बड़ी हाेती है. इस वजह से मरीजों को राशि उपलब्ध कराने में समस्या होती है. कभी-कभी मृतक के परिजनों को पॉलिसी का लाभ लेने या डेथ सर्टिफिकेट बनवाने में काफी परेशानी हाेती है.

उन्होंने कहा कि आधार कार्ड से इन समस्याओं से निजात मिलेगी. इस व्यवस्था से फर्जीवाड़े पर भी रोक लगेगी. अस्पताल के कर्मचारी कई बार जरूरी कागजात बनाने में आनाकानी करते हैं. आधार कार्ड से मरीज का लिंक होने से इस परेशानी से भी मुक्ति मिलेगी.

मालूम हो कि अस्पताल में करीब एक हजार मरीज प्रतिदिन आते हैं. अस्पताल काउंटर पर ही मरीज का आधार नंबर मांगा जाएगा. इसकी छायाप्रति भी ली जाएगी, ताकि उनका मेडिकल रिकार्ड सुरक्षित रखा जाए. आधार कार्ड से लिंक होते ही मरीज का सारा डिटेल उपलब्ध हो जाएगा. चिकित्सा अधीक्षक डाॅ. पीके सिन्हा ने कहा कि अस्पताल में भी आधार कार्ड बनवाने की व्यवस्था होगी.

जाहिर है कि अस्पताल प्रशासन ने कुछ अच्छा सोचकर यह कदम उठाया है लेकिन इससे बहुतों को परेशानी भी होगी. जिनके पास अभी भी आधार नहीं है वो इलाज कैसे कराएंगे.

यह भी पढ़ें-

करवाचौथ पर Lover को दें Princess Cut Diamond, चांद बिहारी ज्वैलर्स लाए हैं नया कलेक्शन
धनतेरस पर बेस्ट आॅफर दे रहे हैं हीरा-पन्ना ज्वैलर्स, Turkish जूलरी के साथ Gold Coin भी फ्री
स्मार्ट बनिए आ रही DIWALI मेंअपने Love Bird को दीजिए Diamond Jewelry
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदेंमुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स मेंप्राइस 8000 से शुरू

 (लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)