कृष्णा सिंह हत्याकांड : आरा-पटना मुख्य मार्ग जाम, लोगों ने कहा- सीबीआई से हो जांच

आरा (पुष्कर पांडेय) : गोला कारोबारी कृष्ण कुमार सिंह उर्फ कुमार जी हत्याकांड में भू-माफियाओं और प्रशासनिक गठजोड़ के सिंडिकेट को उखाड़ फेंकने के लिए चरणबद्ध शांतिपूर्वक आंदोलन की शुरुआत सोमवार को हुई. आंदोलन को लेकर सोमवार को आरा-पटना मुख्य मार्ग सुबह 8 बजे से दो घंटे का सांकेतिक बंद किया गया है. लोगों का कहना है कि मामले में पुलिस सुस्त पड़ी हुई है. हत्याकांड की सीबीआई जांच करायी जाये.

जानकारी के अनुसार धरहरा के समीप की गयी सड़क जाम की वजह से आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया. अति व्यस्ततम सड़क पर वाहनों की लंबी कतार लगते देर नहीं लगी. आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया. लोग बीच सड़क पर बैठ कर जमीन की हुई खरीद बिक्री की जांच की मांग कर रहे थे.



बता दें कि गत 2 जुलाई को गोला कारोबारी कृष्ण कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी. 9 जुलाई को नागरिक समाज द्वारा मौन जुलूस निकाला गया था और हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने की मांग के साथ भोजपुर के तत्कालीन डीएम एवं एसपी के निलंबन की मांग बिहार सरकार से की गई थी, लेकिन लोगों की आवाज सरकार तक नहीं पहुंच सकी.

नागरिक समाज के लोगों ने गत 5 अगस्त को आरा बंद का आयोजन किया था. सोमवार को धरहरा के समीप किए गए बंद के दौरान कृष्णा सिंह कांड की जांच सीबीआई से कराने की मांग सड़क जाम करने वाले लोग कर रहे थे. उनका कहना था कि प्रशासन की मिलीभगत से अपराधी अभी तक पकड़े नहीं गए हैं और केस की जांच सही दिशा में नहीं जा रही है. लेकिन, सरकार ने इन तमाम लोगों की आवाजें अनसुनी कर दी. केस की लीपापोती की जा रही है. साथ ही पुलिस अपराधियों के साथ मिली हुई है. लोगों ने यह भी कहा कि जब तक बिहार सरकार आवाजों को नहीं सुनती और उनकी मांगों को नहीं मानती, तब तक चरणबद्ध तरीके से शांतिपूर्वक आंदोलन किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें : सृजन घोटाला : छात्र राजद ने निकाला आक्रोश मार्च, सीएम व डिप्टी सीएम का फूंका पुतला  

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)