छठ घाटों पर कैसा चल रहा है काम, देखने पहुंचे DM संजय अग्रवाल और आयुक्त आनंद किशोर

पटना (जुलकर नैन) : जैसे-जैसे छठ महापर्व करीब आ रहा है, वैसे-वैसे अधिकारियों ने भी गंगा घाटों का निरीक्षण तेज कर दिया है. इसी कड़ी में आज शनिवार को आयुक्त पटना प्रमंडल आनंद किशोर छठ घाटों का निरीक्षण करने पहुंचे. आनंद किशोर ने पटना के गांधी घाट से शुरू करते हुए पूरब की ओर पटना सिटी अनुमंडल क्षेत्र के घाटों तक का निरीक्षण किया.

निरीक्षण के क्रम में आयुक्त के साथ जिलाधिकारी पटना संजय अग्रवाल,  आयुक्त पटना नगर निगम, अपर जिला दंडाधिकारी, संबंधित सेक्टर पदाधिकारी सहित अन्य संबंधित विभाग के पदाधिकारी मौजूद थे. आयुक्त पटना प्रमंडल आनंद किशोर ने बताया की छठ पूजा समिति को प्रशासन की ओर से कैप और आई कार्ड उपलब्ध कराया जायेगा. ये लक्ष्य रखा गया है कि पिछले साल से अच्छे और उत्कृष्ट तरीक़े से घाट को सुंदर और साफ़ बनाया जाये  ताकि किसी भी श्रद्धालु को दिक्कत ना हो.

इसके साथ ही जहां-जहां ख़तरनाक घाट हैं, वहां पर लोगों को जाने से रोका जायेगा. साथ ही खतरनाक घाटों पर लाल रंग का कपड़ा लगाया जायेगा. ये लाल रंग का कपड़ा लोगों को घाट के खतरनाक होने के बारे में बताएगा. खतरनाक घाटों के आसपास के घाटों पर पर्याप्त बंदोबस्त किया जायेगा. घाटों पर वाचिंग टॉवर के जरिये हर गतिविधि पर नज़र रखी जायेगी. पुलिस प्रशासन असामाजिक तत्वों पर भी कड़ी नज़र रखेगा.

बता दें कि राजधानी पटना में इस बार आस्था का महापर्व छठ को लेकर विशेष तैयारियां की जा रही हैं. पिछले बार से इस बार छठ में बिलकुल अगल व्यवस्था होगी. छठ के लिए दीघा के जहाज घाट से पटना सिटी तक इस बार गंगा किनारे 101 घाट बनेंगे. इस बार भी बाढ़ के बाद घाटों के आकार में बदलाव आया है. कुछ घाट छोटे हो गए हैं, कुछ गहरे हैं. कहीं दोबारा से स्लोप बनाने की तैयारी है.