टूटी जदयू की चुप्पी, पहला निशाना बने जीतनराम मांझी

लाइव सिटीज डेस्कः आरजेडी चीफ लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआई रेड के बाद बिहार में सियासी घटनाक्रम बड़ी तेजी से बदल रहा है. चार दिनों के राजगीर प्रवास के बाद आज रविवार को सीएम नीतीश पटना लौट आए हैं. उन पर विपक्ष की ओर से बयानबाजी तेज है. डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को बर्खास्त करने को लेकर विपक्ष दबाव बनाए हुए है. इसी क्रम में हम के मुखिया और पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने की नीतीश कुमार पर कड़ा बयान दिया है. इस पर जदयू ने भी पलटवार किया है.

जीतनराम मांझी ने तेजस्वी यादव के खिलाफ सीबीआई एफआईआर के बाद उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की थी. उन्होंने नीतीश पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुझे तो पांच दिन के भीतर ही मंत्रीमंडल से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. फिर तेजस्वी पर कार्रवाई करने में इतना टाइम क्यों लग रहा है. नीतीश कुमार तेजस्वी यादव को डिप्टी सीएम की कुर्सी से जल्द हटाएं. मौनी बाबा बनने से काम नहीं चलेगा.

इस पर जदयू ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. जदयू के सीनियर प्रवक्ता संजय सिंह ने जीतनराम मांझी पर जोरदार पॉलिटिकल हमला किया है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को मांझी से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं हैं. नीतीश खुद अपने फैसले लेगें. उन्होंने हमेशा सही का साथ दिया है.

गौरतलब है कि आज रविवार को सीएम नीतीश पटना पहुंच गए हैं. हालांकि पहुंचने के बाद भी अब तक उन्होंने सीबीआई रेड मामले में अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी है. उधर भाजपा लगातार उनपर प्रेशर बनाए हुए है.

यह भी पढ़ें-
नीतीश कुमार पहुंचे पटना, बढ़ाई गई सीएम आवास की सुरक्षा
जेडीयू महासचिव केसी त्यागी गिरफ्तार, पॉलिटिकल कॉरिडोर में सनसनी