लालू प्रसाद प्रोविजनल बेल पर पहुंचे पटना, 42 दिनों के लिए मिली है जमानत

बुधवार को पटना एयरपोर्ट से बाहर निकल कर कार में बैठते लालू प्रसाद

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : लालू प्रसाद आखिरकार प्रोविजनल बेल पर रिहा होकर पटना आ गये. वे इंडिगो फ्लाइट से शाम 6.40 बजे पटना के जयप्रकाश नारायण एयरपोर्ट पहुंचे. उनके साथ रांची से बहादुरपुर विधायक भोला यादव और असगर अली साथ में आए. पटना में एयरपोर्ट से बाहर निकलते ही उनके स्वागत के लिए काफी संख्या में राजद के पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे. कार्यकर्ता लालू प्रसाद जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे. प्रोविजनल बेल पर उनके रिहा होने से परिवारवालों के साथ ही समर्थकों में भी खुशी की लहर है. लालू प्रसाद को छह सप्ताह यानी 42 दिनों के लिए यह प्रोविजनल बेल मिली है.

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पटना एयरपोर्ट से सीधे 10 सर्कुलर रोड स्थित अपने आवास पर पहुंचे. आवास के बाहर खड़े लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया. लालू प्रसाद ने आवास के बाहर खड़े पार्टी के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का हाथ जोड़कर अभिवादन किया. वहीं पार्टी के कई वरीय नेता आवास पर पहले से ही पहुंचे हुए हैं. बता दें कि रांची में दोपहर में ही लालू प्रसाद की जमानत की सारी कानूनी प्रक्रिया पूरी कर ली गई. कानूनी प्रक्रिया के लिए उनके वकील दिनभर लगे रहे. किसी भी हाल में बुधवार को वे रिहाई का आदेश सीबीआई कोर्ट से ले लेना चाहते थे.

दरअसल कागजी कार्रवाई में शिथिलता के कारण ही लालू प्रसाद मंगलवार को जेल से नहीं निकल पाये थे. उनका बेल बांड समय पर नहीं भरा जा सका था और हाईकोर्ट का आदेश भी सीबीआई कोर्ट को नहीं मिल पाया था. इसकी वजह से लालू प्रसाद को एक दिन के बजाय दो दिन जेल में गुजारनी पड़ी. बता दें कि लोगों को उम्मीद थी कि वे मंगलवार को ही जेल से बाहर आ जाएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका.

पटना एयरपोर्ट से बाहर निकलते लालू प्रसाद

इसकी वजह से लालू प्रसाद के वकील बुधवार को सारे दस्तावेज को लेकर पूरी तरह तैयार थे. उनका बेल बांड से संबंधित सारे कागजात सुबह 8 बजे ही तैयार कर लिये गये. चारा घोटाला के तीन मामलों में सीबीआई के दो विशेष कोर्ट में लालू प्रसाद की ओर से बेल बांड भरे गये. तीनों मामलों में 50-50 हजार के 6 बेल बांड भरे गये. पासपोर्ट संबंधी अड़चनें थोड़ी देर के लिए आयीं, पर उसे भी दुरुस्त कर लिया गया. इसके बाद उनकी रिहाई का आदेश सीबीआई के स्पेशल कोर्ट ने जारी कर दिया. वहां से कोर्ट के आॅर्डर को होटवार जेल भेजा गया. फिर वहां से लालू प्रसाद रिहा होकर सीधे एयरपोर्ट के लिए निकले.

बिहार की तरह भाजपा कर्नाटक में भी तलाश रही चोर दरवाजा

बता दें कि बेटे तेजप्रताप की शादी में शामिल होने के लिए लालू प्रसाद को तीन दिनों की पैरोल मिली थी. पैरोल पर वे 10 मई को पटना पहुंचे. तभी 11 मई को उनके लिए झारखंड हाईकोर्ट से राहत भरी खबर आयी. झारखंड हाईकोर्ट ने 11 मई को अपने फैसले में लालू प्रसाद को इलाज के वास्ते छह सप्ताह की प्रोविजनल बेल दे दी. 12 मई को शादी तथा 13 मई समधियाने में मछली-भात की रस्म में शामिल होने के बाद सोमवार 14 मई को वे फिर से रांची जेल पहुंचे. कानूनी कार्रवाई मंगलवार को पूरी नहीं हो सकी और अब बुधवार को वे प्रोविजनल बेल पर रिहा होकर पटना पहुंच गये.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*