देश में अघोषित इमरजेंसी, लोगों पर थोपी जा रही है तानाशाही, लड़ता रहेगा राजद

पटनाः आरजेडी चीफ लालू प्रसाद ने पार्टी मुख्यालय से अपने विरोधियों का खूब ललकारा. केंद्र सरकार को अपने निशाने पर लेते हुए उन्होंने कहा कि देश पर तानाशाही थोपी जा रही है. आरजेडी ने गरीबों की आवाज बुलंद करने की कोशिश की जिसकी वजह से उसे दबाया जाने लगा. लेकिन आरजेडी के हौसले बुलंद हैं और बुलंद रहेंगे. लालू प्रसाद ने कहा कि देश में बढ़ी फासीवादी ताकतों का हम मिलकर सामना करेंगे. उन्होंने कहा कि राजद का जन्म ही उथल-पुथल नक्षत्र में हुआ है. इसका हर कार्यकर्ता खुद में लालू प्रसाद है.

लालू प्रसाद यहीं नहीं रुके. उन्होंने कहा कि आरजेडी एकजुट होकर मुकाबला करेगा. देश में अघोषित इमरजेंसी लागू है. लोगों को तोड़ने की कोशिश की जा रही है. बीजेपी जनता से झूठा वादा कर रही है. केंद्र सरकार ने जनता को ठगने का काम किया है. रोजगार का वादा भी फुस्स हो गया. मोदी सरकार ने जनता को छला है. अब तक देशभर में एक भी कारखाना नहीं खुला है.

 

उन्होनें कहा कि बीजेपी को दलितों के हितों से कोई लेना-देना नहीं है. राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर रामनाथ कोविंद को आगे कर के दिखावा कर रही है. गुजरात में पार्टी की छवि सुधारना चाहती है इसलिए रामनाथ के नाम को आगे किया गया. उन्होंने कहा कि रामनाथ कोविंद किसी भी एंगिल से दलित नहीं हैं. उनके नाम पर भाजपा केवल राजनीति कर रही है. यूपी में ओबीसी के तबके से आते हैं रामनाथ कोविंद.

लालू प्रसाद ने समान विचारधारा के लोगों को एक साथ आने की अपील की. कहा कि मायावती और अखिलेश मिल जाएंगे तो बीजेपी का गेम फिनिश हो जाएगा. मायावती, अरविंद केजरीवाल, ममता, प्रियंका गांधी, राबर्ट वाड्रा और उनके परिवार को खत्म करने की कोशिश की जा रही है क्योंकि वो जानते हैं कि सब एक हो जाएंगे तो बीजेपी खत्म हो जाएगी.

उधर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने मीडिया को भी बख्शा. उन्होंने कहा कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के निशाने पर मीडिया नाचती है. पत्रकारों का कोई दोष नहीं है. एडिटरों के एडिटर हैं अमित शाह. जो एजेंडा वे तय करते हैं उसी पर मीडिया दिनभर टीआरपी बटोरती है.

बता दें कि आज बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल अपना 21वां स्थापना दिवस मनाया. बिहार में सत्तारूढ़ राजद के स्थापना दिवस को लेकर मुख्य कार्यक्रम का आयोजन पटना स्थित पार्टी मुख्यालय में किया गया.

कार्यक्रम को संबोधित करने लालू प्रसाद दिन में करीब 11:30 बजे आरजेडी कार्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने राजद कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. स्थापना दिवस के मौके पर उनके अलावा डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव के अलावा मंत्री, सांसद, विधायक और पार्टी के तमाम नेता-कार्यकर्ता भी मौजूद रहे.

स्थापना दिवस का यह कार्यक्रम करीब दो घंटे तक चला. इसके बाद लालू प्रसाद अपने आवास 10 सर्कुलर रोड लौट गए. जहां 27 अगस्त को होने वाली रैली को लेकर तैयारी की समीक्षा होगी. इस बैठक में रैली की तैयारियों पर रणनीति बनाई जाएगी. रैली को ऐतिहासिक बनाने को लेकर मंथन होगा.

यह भी पढ़ें-
रामविलास पासवान का जन्मदिन आज, 71 के हुए, सोशल मीडिया पर बधाइयों का तांता
21 साल का हुआ राजद, झंझावातों को झेलते हुए फिर पहुंचा सत्ता में