अमित शाह के साथ लंच किया, हाथ थाम लिया ममता का

amit shah

लाइव सिटीज डेस्क : भाजपा को मिशन बंगाल में एक बड़ा झटका लगा है. बड़ी उम्मीद से भाजपा ने जिसे अपने पाले में लाने की कोशिश की, जिनके साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष ने लंच किया, उन्होंने ही धोखा दे दिया. वे विरोधी के खेमे में चले गये. तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी का हाथ थाम लिया.

बताया जाता है कि पिछले सप्ताह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मिशन बंगाल के तहत पश्चिम बंगाल गये थे. वहां उन्होंने नक्सलबाड़ी के एक छोटे से गांव से मिशन बंगाल को शुरू किया था. मालूम हो कि 1960 के दशक में इसी गांव से हिंसक नक्सल विद्रोह शुरू हुआ था.

इस भी पढ़ें : बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल सिंह शराब पीते गिरफ्तार 
लालू बोले : महागठबंधन में विवाद नहीं, नीतीश से लड़ाना चाहती है भाजपा

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इसी नक्सलबाड़ी गांव से ‘बूथ चलो’ अभियान की शुरुआत की. साथ ही उन्होंने एक समर्थक राजू पहाड़ी के घर लंच किया. उन्हें लंच में चावल, दाल, रोटी-आलू पापड़ और भाजी परोसी गयी. लंच करानेवाले वही राजू पहाड़ी कल अपनी पत्नी गीता महाली के साथ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गये.

इधर राजू पहाड़ी व गीता महाली के ममता बनर्जी की पार्टी में शामिल होने पर भाजपा ने काफी नाराजगी जाहिर की है. पार्टी ने कहा कि टीएमसी ने जबरन दोनों नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल किया है. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के मुताबिक पश्चिम बंगाल के राज्य मंत्री गौतम देव की उपस्थिति​ में दोनों नेताओं को टीएमसी में शामिल कराया गया.  वहीं मौके पर मौजूद राज्य मंत्री गौतम देव ने कहा कि यह जबर्दस्ती की राजनीति नहीं है और न ही टीएमसी इसमें विश्वास करती है. दोनों ने स्वेच्छा से हमारी पार्टी में आए हैं. इनका पार्टी स्वागत करती है.  उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल लगातार आगे बढ़ रहा है और यहां भाजपा का कोई जोर नहीं चलनेवाला है. राजू पहाड़ी के टीएमसी में आने से भाजपा के मिशन बंगाल की शुरुआत ही ध्वस्त हो गयी है.