पश्चिम बंगाल : ममता ‘लहर’ के आगे नहीं चला नरेंद्र मोदी का ‘जादू’

लाइव सिटीज डेस्क : एक बार फिर ​पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जादू नहीं चला. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मेहनत रंग नहीं ला सकी. इतना ही नहीं, वहां तृणमूल कांग्रेस के आगे भाजपा के साथ साथ वामपंथ पार्टियां भी औंधे मुंह गिरी है. मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में सात नगर निकायों का चुनाव हुआ है और बुधवार को मतों की जारी गिनती के बाद जो रिजल्ट आ रहे हैं, उसमें ममता लहर साफ दिख रहा है. ममता बनर्जी की तृणमुल कांग्रेस की बल्ले-बल्ले है.

दरअसल पश्चिम बंगाल में सात नगर निकायों दार्जलिंग, कुर्सियांग, कलिम्पोंग, मिरिक, डोमकल, रायगंज और पुजाली में निकाय चुनाव हुए थे. इसे लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने लगातार कैंप किये हुए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे को भी भुनाया जा रहा था. लेकिन बुधवार को जब निकाय चुनाव का रिजल्ट आया तो ममता लहर के सामने सब फेल दिखे. नरेंद्र मोदी का जादू कहीं नहीं चला और अमित शाह का चुनावी कैंपेन का भी असर नहीं दिखा.

जानकारी के अनुसार सात नगर निकायों दार्जलिंग, कुर्सियांग, कलिम्पोंग, मिरिक, डोमकल, रायगंज और पुजाली में हुए चुनाव के रिजल्ट आज आ गये हैं. तृणमूल कांग्रेस ने सात में से चार नगरपालिकाओं में जबर्दस्त जीत हासिल की है. इनमें पुजाली, मिरिक, रायगंज और दोमकल पर ममता की पार्टी का कब्जा हो गया है. वहीं दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, कुर्सियांग में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा को जी मिली है.

सूत्रों के अनुसार दोमकल में तृणमूल कांग्रेस ने सबसे ज्यादा मजबूती के साथ 21 में से 18 सीटों पर कब्जा किया है. यहां कांग्रेस का सिर्फ खाता खुला है. वहीं सीपीआई (एम) ने महज दो सीटों पर कब्जा जमाया है. भाजपा को एक भी सीट नहीं मिली. इसी तरह मिरिक में भी ममता बनर्जी का ही जादू चला. यहां तृणमूल कांग्रेस ने 9 सीटों में से 6 पर कब्जा जमाया, जबकि जीजेएम को 3 सीटें मिलीं. 16 सीटों वाले पुजाली निकाय में ममता की पार्टी ने 12 सीटों पर जीत हासिल की. यहां भाजपा का खाता खुला. उसे 2 सीटें मिलीं. यहां से कांग्रेस व अन्य को एक एक सीट मिली. उधर रायगंज में 27 सीटों पर हुए चुनाव में टीएमसी ने सर्वाधिक 24 सीटों पर जीत दर्ज की. यहां कांग्रेस को 2 सीटें मिली. यहां भाजपा का सिर्फ खाता खुला.

चुनावी ​रिजल्ट बताते हैं कि दार्जिलिंग में टीएमसी ने एक सीट के साथ खाता खोला है, लेकिन भाजपा का यहां सूपड़ा साफ हो गया है. सबसे अधिक 31 सीटें गोरखा जनमुक्ति मोर्चा को मिलीं. इसी तरह कुर्सिओंग में कुल 20 सीटों पर चुनाव हुआ है. इनमें से तृणमूल कांग्रेस को 3 ओर जीजेएम को 17 सीटें मिली हैं.

कलिंगपोंग निकाय में भी जीजेएम का जलबा रहा. कुल 23 में से यहां जीजेएम को 19, तो तृणमूल कांग्रेस को 2 सीटें मिली हैं.