TOPPER SCAM : गणेश-संजय को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ करेंगे मनु महाराज

manu

लाइव सिटीज डेस्क : टॉपर स्कैम में गिरफ्तार गणेश को रिमांड पर लेने की अनुमति स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (SIT) को मिल गई है. SIT को गणेश की 24 घंटे की रिमांड मिली है. उधर इस मामले में गिरफ्तार ठेकेदार संजय को भी रिमांड पर लेने की तैयारी है. बताया जा रहा है कि पुलिस दोनों को एक साथ रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी. दोनों के आमने-सामने ​बैठाया जायेगा. दोनों से पूछताछ के लिए पटना के एसएसपी मनु महाराज ने तैयारी कर ली है. उम्मीद है कि दोनों के आमने-सामने बैठा कर पूछताछ किये जाने से और भी कई चौंकानेवाले खुलासे हो सकते हैं.



बता दें कि लाइव सिटीज के लगातार खुलासे के बाद दो जून को बिहार बोर्ड ने आर्ट्स के फर्जी टॉपर गणेश का सर्टिफिकेट रद्द कर दिया था. इतना ही नहीं, गणेश को पटना पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया. वहीं तेजी से कार्रवाई करते हुए पटना के एसएसपी मनु महाराज के निर्देश पर तीन जून को इस कांड से जुड़े शिक्षा माफिया संजय को भी गिरफ्तार किया गया. इसके बाद समस्तीपुर के रोसड़ा से भी तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें स्कूल की प्रिंसिपल देव कुमारी, उसके पति रामकुमार चौधरी व किरानी पुत्र गौतम कुमार शामिल हैं. देव कुमारी के ही स्कूल संजय गांधी विद्यालय लक्ष्मीनियां से गणेश ने मैट्रिक किया था.

manu

गणेश के अलावा अन्य गिरफ्तार लोगों से पूछताछ की गयी है. खास कर फर्जी टॉपर मामले में गिरफ्त में लिये गये गणेश से तो पटना के एसएसपी मनु महाराज ने खुद ही काफी देर तक पूछताछ की गयी थी. सूत्रों की मानें तो अब मनु महाराज गणेश और ठेकेदार संजय को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ करेंगे. एसएसपी की मानें तो दोनों को एक साथ रिमांड पर लेने की तैयारी की जा रही है. पुलिस को उम्मीद है कि दोनों को एक साथ बैठा कर पूछताछ करने से कई तरह के और भी खुलासे हो सकते हैं.

गौरतलब है कि पुलिस को अनुसंधान में पता चला है कि संजय पिछले सात वर्षों से पटना में रह कर फर्जीवाड़े का खेल कर रहा था. वह बर्थ सर्टिफिकेट से लेकर मैट्रिक-इंटर के स्टूडेंट्स तक की सेटिंग करता था. इतना ही नहीं, वह जरूरत पड़ने पर बाहरी स्टूडेंट्स का गार्जियन भी बन जाता था. गणेश मामले में उसका भी लोकल गार्जियन वही बन गया था. पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि गिरफ्तार संजय का कई कॉलेजों से संपर्क है. उसके गिरोह में कई और लोग शामिल हैं. पुलिस के लिए जानकारी जुटानी किसी चुनौती से कम नहीं है.

खास बात यह भी है कि रोसड़ा के रहनेवाले संजय के पटना स्थित घर से कई संदिग्ध डॉक्यूमेंट्स मिले हैं. सूत्रों की मानें तो इनमें वैसे लोगों के भी नाम हैं, जो संजय के संपर्क में थे. पुलिस को आशंका है कि ये सब भी संजय के साथ फर्जीवाड़े के खेल में शामिल हैं. पुलिस उन सभी लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है. वहीं संजय गांधी विद्यालय से जुड़े तारों को भी पुलिस खंगाल रही है. इस विद्यालय के हेडमास्टर देव कुमारी को उसके पति और बेटे के साथ पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें :
 पुलिस की गिरफ्त में रैकेट का सबसे बड़ा ठेकेदार संजय कुमार
 कागजों पर चलने वाले इस स्कूल का जानिए पूरा सच  
आनंद किशोर अभी BSEB के चेयरमैन बने रहेंगे, फर्जी स्‍कूलों पर कसेगा तेज शिकंजा