शराब तस्करी का न्यू ट्रेंड : लग्जरी वाहनों में उतरा बिहार में ‘मयखाना’

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार में लगभग डेढ़ साल से शराबबंदी लागू है. यह नीतीश सरकार का मेन मुद्दा भी रहा है. जब मुख्यमंत्री महागठबंधन में थे तब भी वे शराब के खिलाफ अभियान चलाये हुए थे और जब वे एनडीए में आ गये हैं, तब भी इसे लेकर अपनी कमर कसे हुए हैं. लेकिन तस्कर हैं कि वे अपने धंधे से बाज नहीं आनेवाले हैं. कड़ाई होती है तो तस्कर बस अपना ट्रेंड कर लेते हैं.

शराब तस्कर एक बार फिर अपना ट्रेंड बदल लिया है. वे नये हथकंडे अपना कर पुलिस प्रशासन की आंखों में धूल झोंक रहे हैं. कहीं पुलिस टाइट हो रही है तो इस तरह के मामलों का खुलासा हो रहा है. खुलासे में ये बातें भी सामने आ रही अब तस्कर लग्जरी वाहनों का इस्तेमाल कर रहे हैं. वाहनों को देख कर कोई सोच भी नहीं सकता है कि इतनी कीमती गाड़ियों से कोई शराब की भी तस्करी कर सकता है.

लेकिन यही सच है. इन दिनों तस्कर लग्जरी वाहनों से शराब की तस्करी कर रहा है. नालंदा हो या नवादा, चाहे गोपालगंज, वैशाली की बात कर लीजिए. हर जगह अब लग्जरी वाहनों से शराब की तस्करी हो रही है. इसके साथ पीने-पिलाने का भी खेल लग्जरी वाहनों में चल रहा है, ताकि महंगी गाड़ी देख कर कोई इस पर शक न करे.

शराब के साथ हाजीपुर में जब्त स्कॉर्पियो

वैशाली के हाजीपुर में मंगलवार को भी ऐसा ही लग्जरी वाहन पकड़ाया. स्कॉर्पियो पर लदी शराब की बड़ी खेप पकड़ी गयी. बताया जाता है कि महनार का थानाध्यक्ष अभय कुमार सिंह औऱ उनकी टीम ने स्कॉर्पियो को पीछा करके पकड़ा. वाहन से 220 बोतल शराब बरामद की गयी. इसमें दो लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है.

गौरतलब है कि दो दिन पहले पूर्णिया में जिला कल्याण पदाधिकारी शराब के साथ पकड़े गये थे. उनके शराब पीने की पुष्टि हो गयी थी. सरकारी गाड़ी के अंदर शराब का यह खेल हो रहा था. मौके पर ही जिला कल्याण पदाधिकरी राजेश वर्मा पकड़े गये. खास बात कि उनके साथ पंजाब नेशनल बैंक के मैनेजर भी पकड़े गये थे. सूत्रों की मानें तो सरकारी गाड़ी के अंदर 15 बोतल शराब भी जब्त की गयी थी.

नवादा में 14 सितंबर को जब्त कार

इतना ही नहीं, नवादा में ऐसा लग्जरी वाहन शराब ढोने में पकड़ाया, जिस पर भाजपा का बोर्ड भी लगा हुआ था. नवादा के गोविंदपुर पुलिस को यह सफलता बाजार चौक के पास मिली थी. गुप्त सूचना पर बाजार चौक के पास पुलिस की जांच लगायी गयी थी. इसी कड़ी में पुलिस ने लग्जरी वाहन से चेकिंग के दौरान बिना लेबल वाली 275 बोतलें शराब बरामद की थीं. हालांकि शराब तस्कर वाहन छोड़ कर भागने में सफल रहा. थानेदार के अनुसार इनोवा वाहन संख्या जेएच 05 ए एन 6869 को तब पुलिस ने जब्त किया था.

गोपालगंज के भोरे में जब्त वाहन

इसके अलावा गोपालगंज के भोरे में 21 सितंबर को ऐसा ही वाहन पुलिस ने पकड़ा था. मिश्रौली-भिंगारी मुख्य मार्ग पर सिसई गांव के समीप भोरे पुलिस ने एक लैग्जेरियस कार से तस्करी के लिए लाई जा रही 25 कार्टन शराब बरामद की थी. उस समय पुलिस ने दो तस्करों को भी पकड़ा था. हालांकि तस्करों से पुलिस को हाथापाई भी करनी पड़ी थी. सादे लिवास में गई पुलिस को पिस्टल निकालनी पड़ी, तब जाकर गिरफ्तारी संभव हो सकी थी. गिरफ्तार लोगों में फुलवरिया थाना के रामपुर कला निवासी मधु सिंह एवं भोरे थाना के नवका टोला निवासी बुलेट साह थे. पुलिस ने शराब लदी इंडिगो गाड़ी संख्या बीआर -06 पी बी 3665 को भी जब्त किया था.

यह भी पढ़ें-  अचानक बोले सीएम नीतीश, अगर मैं मर गया तो 

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)