​पब्लिसिटी के लिए भाजपा लालू एंड फैमिली पर लगा रही आरोप : नीतीश

CM Nitish kumar

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सुशील मोदी अपनी ​पब्लिसिटी के लिए लालू एंड फैमिली पर आरोप लगा रहे हैं. उनके पास कोई तथ्य है तो वे कानून का सहारा ले सकते हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को सीएम सचिवालय में आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम में बोल रहे थे. इसके अलावा उन्होंने बिहार सरकार के कामकाज से लेकर वर्ष 2019 के लोस चुनाव में प्रधानमंत्री की उम्मीदवारी से लेकर महागठबंधन तक पर बेबाक होकर अपने विचार रखे. उन्होंने यह भी कहा कि मैं 2019 में पीएम पद का उम्मीदवार नहीं हूं.

मालूम हो कि इन दिनों बिहार की सियासत में लालू एंड फैमिली पर भाजपा की ओर से पिछले डेढ़ माह से लगातार लगाये जा आरोप को लेकर सियासत गरम है. भाजपा के वरीय नेता व पूर्व मुख्यमंत्री सुशील मोदी मिट्टी, मॉल से लेकर बेनामी संपत्ति तक के घोटाले का आरोप लगा रहे हैं और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद व पार्टी नेताओं की ओर से डेली पलटवार किया जा रहा है. इसे लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर चुप रहने का आरोप लग रहा था. सोमवार को आखिर मुख्यमंत्री ने इस पर चुप्पी तोड़ी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लालू प्रसाद व उनके परिवार पर भाजपा के सुशील मोदी आरोप लगा कर सरकार के कामकाज को मोड़ना चाहते हैं. भाजपा पब्लिसिटी के लिए यह आरोप लगा रही है. उसके पास कोई तथ्य है तो वह कानून का सहारा ले सकती है. नीतीश कुमार ने कहा कि सुशील मोदी और भाजपा के आरोप को लालू जी और राजद के लोग जवाब दे ही रहे हैं तो इसमें तीसरे पक्ष के लोगों को कुछ कहने की जरूरत ही नहीं है. उन्होंने कहा कि इसमें हमें कुछ नहीं कहना है. उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा बिहार सरकार के कामकाज को दूसरी दिशा में मोड़ना चाहती है.

नीतीश कुमार ने यह भी स्प्ष्ट कर दिया कि वे वर्ष 2019 के लिए पीएम पद का उम्मीदवार नहीं हैं. जिन्हें देश समर्थन देगा, वे प्रधानमंत्री बनेंगे. इस बाद नरेंद्र मोदी को देश ने समर्थन दिया था, तो मोदी जी प्रधानमंत्री बने. उन्होंने कहा कि हमें बिहार की सेवा करने की जिम्मेवारी मिली है, इसलिए यह कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि सरकार चलाने में थोड़ी कठिनाई तो आती है, जो स्वाभाविक है. लेकिन इससे अफसोस करने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने महागठबंधन को माइंडसेट दिया है, इसलिए जनता व विकास के कामों में कोई बाधा नहीं आयेगी.

नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि जदयू और राजद एक पार्टी नहीं है. यह बिहार में सरकार चलाने के लिए मुद्दों पर आधारित एक महागठबंधन है. दोनों पार्टियों की अपनी-अपनी विचारधारा और कई मुद्दों पर अलग-अलग राय हैं. उन्होंने इवीएम पर भी कहा कि यह मेरी नजर में ठीक है. बैलेट पेपर के दिन लद गये. इवीएम में भी वीवीपैट जरूरी है. गौरतलब है कि सीएम के सचिवालय में सोमवार को लोकसंवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी समेत अनेक मंत्री व विधायक मौजूद थे. आज के लोकसंवाद में शिक्षा, स्वास्थ्य व कृषि से जुड़े सुझाव लिये गये. कार्यक्रम में संबंधित विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें : पूर्व विधायक की मुश्किलें बढ़ीं, अब होगी संपत्ति की जांच, नहीं बख्शने वाले हैं विकास वैभव 
भाजपा को दिया जवाब : मेरा नाम लालू है, मुझे धमकी न दें