पप्‍पू यादव कह रहे हैं- शरद यादव इस्‍तीफा देकर लालू के साथ आ जायेंगे

पटना : बिहार के सियासी दंगल में घटनाक्रम बहुत तेज है . शरद यादव की बढ़ी सक्रियता को लेकर कई तरीके की चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया है . शरद ने शनिवार को बिहार के महागठबंधन का विवाद सुलझाने को लेकर कांग्रेस प्रेसीडेंट सोनिया गांधी से मुलाकात की थी . अब जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्‍ट्रीय संरक्षक व मधेपुरा के सांसद पप्‍पू यादव ने बड़ा बयान दे दिया है . 

पप्‍पू ने ट्वीट कर कहा है कि शरद यादव जदयू से इस्‍तीफा देने जा रहे हैं . इस्‍तीफे के बाद वे लालू प्रसाद के खेवनहार बन जायेंगे . ऐसे में,देखना होगा कि नीतीश कुमार की साख बचेगी या सत्‍ता . बताते चलें कि 2014 के लोक सभा चुनाव में पप्‍पू यादव ने मधेपुरा में शरद यादव को हराया था . तब शरद जदयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष थे . हार के बाद शरद यादव को नीतीश कुमार ने राज्‍य सभा में भेजा था . 

राजनीतिक चर्चा यह भी होती है कि शरद यादव 2019 के लोक सभा चुनाव में अपने बेटे को मधेपुरा में पप्‍पू यादव के खिलाफ चुनाव लड़ाना चाहते हैं . जदयू में मंत्री विजेन्‍द्र प्रसाद यादव को शरद यादव का प्रबल समर्थक माना जाता है . पिछले दिनों जब नीतीश कुमार ने जदयू की राज्‍य कार्यसमिति की बैठक बुलाई थी, तब विजेन्‍द्र प्रसाद यादव ने सधे हुए शब्‍दों में महागठबंधन की मजबूती की वकालत की थी . कइयों ने इसे तेजस्‍वी यादव का पक्ष लेना भी मान लिया था . 

सोमवार को होगा तेजस्‍वी का फैसला

राष्‍ट्रपति चुनाव 17 जुलाई  को शाम पांच बजे संपन्‍न हो जाएगा . बताया जा रहा है कि वोट खत्‍म होने के बाद मुख्‍य मंत्री नीतीश कुमार तेजस्‍वी यादव के बारे में आखिरी निर्णय ले लेंगे . राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद स्‍पष्‍ट कर चुके हैं कि तेजस्‍वी यादव इस्‍तीफा नहीं देंगे . इसके बाद,गेंद नीतीश कुमार के पाले में है . देखना होगा कि वे क्‍या करते हैं . बर्खास्‍तगी अंतिम रास्‍ता है . बर्खास्‍तगी हुई तो बिहार का महागठबंधन आईसीयू में चला जाएगा . कांग्रेस तब कहां स्‍टैंड करती है,यह देखना भी होगा .

यह भी पढ़ें-  महागठबंधन बचाने की कवायद : शरद ने सोनिया से की मुलाकात, 40 मिनट चली बात