प्रद्युम्न हत्याकांडः CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताई हत्या की वजह, किया बड़ा खुलासा

लाइव सिटीज डेस्कः प्रद्युम्न हत्याकांड मामले में CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया है. CBSE ने कहा कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या की वजह स्कूल एडमिनिस्ट्रेशन की लापरवाही है. CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि ड्राइवर, कंडक्टर्स को उस वाशरूम में जाते थे, जहां केवल बच्चों और स्टाफ को जाने की इजाजत थी. स्कूल ने तो बच्चे की मौत की जानकारी भी पुलिस को नहीं दी, वास्तव में बच्चे के पैरेंट्स ने पुलिस में FIR लिखाई.

सीबीएसई ने शीर्ष अदालत में मृतक के पिता द्वारा दायर याचिका के जवाब में कहा कि बच्चे की क्रूर हत्या के बाद उसने घटना की जांच के लिए जांच समिति गठित की थी. बोर्ड ने कहा कि समिति ने पाया कि स्कूल परिसर में गंभीर अनियमितताएं और सुरक्षा संबंधी खामियां हैं. बोर्ड से पूछा गया कि क्या कथित घटना स्कूल के अधिकारियों की लापरवाही के कारण हुई, इसका बोर्ड ने हां में जवाब दिया.

सीबीएसई के सचिव अनुराग त्रिपाठी ने हलफनामे में कहा है कि यह घटना स्कूल अधिकारियों की लापरवाही के कारण हुई क्योंकि बसों के संचालन के काम में लगे चालकों और कंडक्टरों, क्लीनरों के लिए स्कूल परिसर में शौचालय की अलग से कोई व्यवस्था नहीं है. जिससे संकेत मिलते हैं कि वे छात्रों और स्टाफ के लिए उपलब्ध सुविधाओं का प्रयोग कर रहे थे.

स्कूलों में सुरक्षा पर दिशानिर्देश तय करने के अनुरोध वाली कई याचिकाओं पर सुनवाई कर रही शीर्ष अदालत को सीबीएसई ने बताया कि उसने बच्चों की सुरक्षा पर उससे संबद्ध संस्थानों को समय-समय पर कई सर्कुलर जारी किये हैं.

बता दें कि 8 सितंबर को रेयान स्कूल में दूसरी क्लास के स्टूडेंट प्रद्युम्न का धारदार हथियार से मर्डर कर दिया गया था. बस कंडक्टर अशोक कुमार पर आरोप है कि उसने टॉयलेट में प्रद्युम्न का मर्डर किया है.

यह भी पढ़ें-

फूट-फूट कर रो रही है प्रद्युम्न की बहन, नहीं जाना चाहती रयान स्कूल
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
PUJA का सबसे HOT OFFER, यहां कुछ भी खरीदें, मुफ्त में मिलेगा GOLD COIN
अभी फैशन में है Indo-Western लुक की जूलरी, नया कलेक्शन लाए हैं चांद बिहारी ज्वैलर्स
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)