संसद में लालू-राबड़ी को VVIP कैटेगरी से हटाने की गूंज, कहा- केंद्र वापस ले फैसला

लाइव सिटीज डेस्कः RJD चीफ लालू प्रसाद और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को VVIP कैटेगरी से हटाने के मुद्दे पर आज सोमवार को संसद में खूब हंगामा हुआ. राजद सांसद ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय के इस फैसले का खूब विरोध किया. इस मामले पर लोकसभा में कार्य स्थगन प्रस्ताव पेश किया गया.

बता दें कि राजद कोटे से लोकसभा सांसद जय प्रकाश नारायण यादव ने संसद में लालू प्रसाद और राबड़ी देवी को पटना एयरपोर्ट पर VVIP कैटेगरी से बाहर करने के फैसले का विरोध किया. उन्होंने कहा कि केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय का ये फैसला दुर्भागपूर्ण है. इसे तुरंत वापस लेना चाहिए.

मालूम हो कि लालू प्रसाद और उनकी पत्नी राबड़ी देवी को पटना एयरपोर्ट के लिए विशेषाधिकार दिया गया था, जिसे पिछले दिनों केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय ने खत्म कर दिया. लालू प्रसाद और राबड़ी देवी का नाम पटना एयरपोर्ट से VVIP लिस्ट से हटा दिया गया है. अब दोनों को पटना एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ेगा. अभी तक दोनों को इससे छूट थी.

बता दें कि हेल्थ बैकग्राउंड के आधार पर दोनों को यह सुविधा दी गई थी लेकिन अब इसे वापस ले लिया गया है. हालांकि बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के इस वीवीआईपी ट्रीटमेंट में बदलाव नहीं किया गया है.

गौरतलब हो कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी को VVIP कैटेगरी से बाहर होने के मुद्दे पर बिहार की सियासत में हलचल तेज हो गई है. इस मामले पर विपक्ष ने भी खूब चुटकी ली है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर यादव ने कहा है कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी को VVIP सुविधा क्यों मिलेगी? वे दोनों किस पद पर हैं जो उन्हें इस तरह की सुविधा मिलनी चाहिए? राजद द्वारा बेवजह भाजपा पर आरोप लगाना उचित नहीं है. उधर राजद ने केंद्र के इस फैसले पर अपने तेवर तल्ख कर लिए हैं.

यह भी पढ़ें-

VVIP कैटेगरी से बाहर हुए लालू-राबड़ी, एयरपोर्ट पर जांच बिना No Entry
बोले नंदकिशोर : लालू-राबड़ी को क्यों मिले VVIP सुविधा, BJP पर आरोप लगाना गलत