बक्सर सेंट्रल जेल में छापेमारी से हड़कंप, 3 घंटों तक चला सर्च अभियान

बक्सर(शशांक सिंह) : बक्सर सेंट्रल से कैदियों के फरार होने के बाद से जेल की सुरक्षा सख्त कर दी गयी है. रविवार की सुबह बक्सर सेंट्रल जेल में छापेमारी की गयी. अहले सुबह हुई छापेमारी से हड़कंप मच गया. करीब तीन घंटे तक जेल में सर्च अभियान चलाया गया. साथ ही सुरक्षा की बारीकियों की जांच की गयी. इस दौरान सुरक्षा में पूरी तरह से जवान एवं कारा प्रशासन के कर्मचारी मुस्तैद थे. सर्च अभियान के दौरान कुछ बरामद नहीं हुआ. छापेमारी सदर एसडीओ गौतम कुमार और एसडीपीओ शैशव यादव के नेतृत्व में की गयी.

मिली जानकारी के अनुसार सेंट्रल जेल में डीएम और एसपी के निर्देश के बाद सदर एसडीओ और एसडीपीओ के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया. रविवार की सुबह करीब चार बजे अचानक जेल में छापेमारी शुरु हो गई. अभी कैदी सोये ही हुए थे कि पूरा जेल पुलिस के जवानों से भर गया. करीब तीन घंटे तक जेल में छापेमारी हुई. लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं मिला. करीब सौ पुलिस वालों ने जेल के सभी वार्डों को बारीकियों से जांच किया. वहीं छापेमारी से जेल कैदियों में हड़कंप मच गया.

एसडीपीओ शैशव यादव ने बताया कि एसडीओ गौतम कुमार, डीएसओ शिशिर कुमार मिश्रा, मनोज कुमार सिंह, बीडीओ अजय कुमार के साथ जिले के छह थाना नगर, मुफस्सिल, औद्योगिक, इटाढी, सिमरी, नया भोजपुर समेत 80 जवानों ने जेल के सभी वार्डों को एक-एक कर खंगाला गया. लेकिन कुछ नहीं मिला. एसडीओ गौतम कुमार कहा कि जेल में किसी प्रकार के सामान नहीं मिला है. जबकि सभी जवान व कारा कर्मी सुरक्षा में मुस्तैद थे.

विदित हो कि सुरक्षा व्यवस्था को धत्ता बताते हुए 31 दिसंबर को बक्सर सेंट्रल जेल से 5 कैदी फरार हो गये थे. जिसके बाद गृह विभाग ने जेल अधीक्षक और जेलर को निलंबित कर दिया था. वहीं जेल से फरार हुए 5 कैदियों में से एक कैदी देवधारी राय को छपरा से गिरफ्तार कर लिया गया था. जबकि अभी भी चार कैदी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. जिनकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी कर रही है. अचानक हुई छापेमारी से कैदियों में हड़कंप व्याप्त रहा.

यह भी पढ़ें-

बेरहम मामी ने किया रिश्ते का कत्ल, भांजे को रोड़ा समझ मरवा डाला
शराबबंदी से बिहार के 14 होम्योपैथिक दवा कारखाने हुए झारखंड शिफ्ट !