‘नकारात्मक राजनीति करनी है तो बिहार से बाहर जाएं सुमो’

पटना(नियाज़ आलम) : राजद बनाम सुशील मोदी के बीच आरोप-प्रत्यारोपों का दौर पिछले एक महीने से लगातार जारी है. खुद को सही और दूसरे को गलत साबित करने की होड़ में रोज नए खुलासे भी सामने आ रहे हैं. इसी क्रम में शुक्रवार को जब सुमो ने स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप को पेट्रोल पम्प के मामले में लपेटा तो राजद भी एक्शन में आ गया. पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा ने मोर्चा संभालते हुए इसे सुमो का बड़ा झूठ करार दिया.

सुमो के खिलाफ सबूतों से भरा है RJD कार्यालय का कमरा

मनोज झा ने कहा की ये दो भाइयों के बीच परस्पर समझौते का मामला है. सुमो इस बात को छुपाकर गलत बयानबाजी कर रहे हैं. उन्होंने कहा की अगर सुशील मोदी नकारात्मक राजनीति करना चाहते हैं तो बिहार की राजनीति में उनके लिए कोई जगह नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने कहा की मोदी की फरेब की राजनीति से खुद भाजपा के लोग त्रस्त हैं. राजद के पास उनके खिलाफ सबूतों से पूरा कमरा भरा है. ये दस्तावेज़ खुद भाजपा के लोग ही उपलब्ध करवा रहे हैं. मनोज झा ने कहा की दूसरों को शुचिता का पाठ पढ़ाने वाले मोदी ने विधान परिषद के चुनाव को लेकर जो शपथ पत्र चुनाव आयोग को दिया था वो पूरी तरह झूठ का पुलिंदा है.

आरजेडी का सुमो से सवाल

राष्ट्रीय जनता दल ने सुमो पर पलटवार करते हुए उनसे कुछ सवाल भी पूछे. पार्टी ने कहा है की दूसरों पर उंगलियां उठाने वाले पहले अपने झूठ पर जवाब दें. वर्षों पहले ली गई संपत्ति का वर्तमान बाज़ार मूल्य 100-150 गुणा होने के अनर्गल आरोप लगाने वाले सुशील मोदी का झूठ जगजाहिर है.

राजद ने सुमो से पूछा है कि क्या आपने गाज़ियाबाद और गौतमबुद्ध नगर, नोएडा (यूपी) में आवासीय मकान जून 2006 और मार्च 2010 में खरीदे थे, या 2002 और 2009 में? अगर इन दोनों मकानों को अलग-अलग वर्षों में नहीं खरीदा गया तो शपथ पत्र में क्रय की तारीख और वर्ष अलग-अलग कैसे दिखाया गया?

आरजेडी ने पूछा कि आपके शपथ पत्र के अनुसार जब इन दोनों मकानों का बाज़ार मूल्य 2012 में 60 लाख था तो 2015 के घोषणा पत्र में ये घटकर 51.40 लाख कैसे हो गया? साथ ही पूछा कि क्या रोड न. 8 A, राजेन्द्र नगर स्थित आपके करोड़ों रुपये के पुश्तैनी मकान का बाज़ार मूल्य 2012 और 2015 में शून्य था? अगर नहीं तो आपने शपथ पत्र और घोषणा पत्र में बाज़ार मूल्य शून्य क्यों और कैसे दिखाया?

आरजेडी ने आगे पूछा कि आपने आशियाना हाउसिंग के 700 शेयर में निवेश मात्र 2000 रुपये कैसे दिखाया? क्या आपके आशियाना हाउसिंग के इन शेयर्स का बाज़ार मूल्य 500 गुणा नहीं बढ़ गया है? यदि हां, तो जनता और सरकार को क्यों गुमराह किया?

यह भी पढ़ें-
सुमो ने अब तेज व तेजस्वी को पेट्रोल पंप मामले में लपेटा

About Md. Saheb Ali 5141 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*