नीतीश कुमार के NDA संग जाने पर हाईकोर्ट पहुंचा राजद, सरकार गठन के फैसले को दी चुनौती

Patna-High-Court-min
पटना हाईकोर्ट (फाइल फोटो)

पटना (एहतेशाम) : बिहार में मचे सियासी घमासान के बीच एक बड़ी खबर आ रही है. पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई है. बिहार में भाजपा के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने के फैसले को चुनौती देते हुए पटना उच्च न्यायालय में याचिका डाली गई है. बताया जा रहा है कि पहली याचिका जितेंद्र कुमार एवं दूसरी याचिका राजद विधायक सरोज यादव तथा चंदन कुमार वर्मा ने दायर की है.

पटना हाईकोर्ट में दायर याचिका में बताया गया है कि सूबे में महागठबंधन को जो जनादेश मिला था वह भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ था. वो भी पांच वर्षों के लिए. याचिका में यह भी बताया गया है कि विधानसभा में राष्ट्रीय जनता दल सबसे बड़ा दल है. ऐसे में बिहार के हालात को देखते हुए नियमानुसार राजद को सरकार बनाने के लिए पहले न्योता दिया जाना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

याचिका में कहा गया है कि राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने प्रावधानों का उल्लंघन किया है. राज्यपाल के द्वारा जदयू को सरकार गठन के लिए आमंत्रित कर संवैधानिक प्रावधानों का उल्लंघन हुआ है. इसलिए राज्य में गठित एनडीए की नई सरकार असंवैधानिक है. एनडीए सरकार के गठन को खारिज किया जाना चाहिए.

गौरतलब हो कि महागठबंधन में लंबी चली उठापटक के बाद बुधवार को नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद नीतीश कुमार सीएम आवास लौट गए. देर रात भाजपा विधायकों की एक बैठक बुलाई गई. जिसमें नीतीश कुमार को समर्थन का फैसला हुआ. इसके साथ ही आज गुरुवार को नीतीश कुमार ने फिर से मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. अब इसी पर राजद विधायकों की ओर से हाईकोर्ट में याचिका डाली गई है.

यह भी पढ़ें-

अब जगदानंद सिंह का प्रहार, कहा- नीतीश बिहार के भजनलाल
भस्मासुर निकले नीतीश, उनका सांप्रदायिक विरोध ढोंग था, माफ नहीं करेगी बिहार की जनता