राजद नेता इलियास हुसैन अलकतरा घोटाला से बरी

इलियास हुसैन का फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : राजद इलियास हुसैन को सीबीआई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. बुधवार को उन्हें सुपौल से जुड़े अलकतरा घोटाला मामले में सीबीआई कोर्ट ने बरी कर दिया है. सुपौल में अलकतरा घोटाले में 39 लाख रुपये की हेराफेरी का मामला था. इसमें उस समय क तत्कालिक पथ निर्माण मंत्री इलियास हुसैन पर भी आरोप लगाया गया था. इससे सीबीआई कोर्ट ने राजद नेता को आरोपमुक्त कर दिया.

बताया जाता है कि राज्य सरकार ने 1990-91 से 1995-96 के बीच पथ निर्माण विभाग को 311.76 करोड़ रुपये आवंटित किये थे. विभाग ने इस राशि को तत्काल सभी प्रमंडलों के पास खर्च के लिए भेज दिया था. वहीं तत्कालिक सरकार ने अलकतरा खरीद के लिए 180.93 करोड़ रुपये का भुगतान भी कर दिया था. यह मामला कई जिलों से जुड़ा था, इसी में एक मामला बिहार के सुपौल से जुड़ा था. उस समय झारखंड का बंटवारा नहीं होने से एक मामला हजारीबाग से भी जुड़ा था.

इलियास हुसैन का फाइल फोटो

बाद में बात आयी कि बिना सड़क बनाये ही अलकतरे के पैसे निकाल लिये गये हैं. घोटाला उजागर होने के बाद इसकी जांच निगरानी से भी करायी गयी. विपक्ष ने आरोप लगाया कि निगरानी मामले को रफा दफा करने की साजिश की जा रही है. इसे लेकर पटना हाईकोर्ट में केस दाखिल किया गया और उसके निर्देश पर मामले की जांच की जिम्मेवारी सीबीआई को सौंपी गयी. इसी मामले में सुपौल से जुड़े केस की सुनवाई हुई. सुपौल में 39 लाख के हुए अलकतरा घोटाला में आरोपी राजद नेता इलियास हुसैन को सीबीआई कोर्ट ने बरी कर दिया है.

इसके साथ ही अन्य आरोपियों को भी आरोपमुक्त कर दिया.