बाढ़ में बह गये बांसवाड़ा के एसडीएम, गोताखोरों को नहीं मिल रहा सुराग

लाइव सिटीज डेस्क : बाढ़ की तेज धारा में एसडीएम साहब बह गये हैं. इससे पूरा प्रशासनिक महकमा सकते में आ गया है. बताया जा रहा है कि वे बागीदौरा से लौट थे कि अपनी गाड़ी समेत बह गये. ड्राइवर को तो दो किलोमीटर दूर किसी तरह बचाया गया है, लेकिन एसडीएम का अब तक पता नहीं चला है. गाड़ी में तीन लोग सवार थे. पूरा प्रशासनिक अमला खोजबीन में जुट गया है.

यह हादसा राजस्थान में शुक्रवार दोपहर लगभग 11 बजे की है. बताया जा रहा है कि बांसवाड़ा जिले में कई दिनों से काफी बारिश हो रही है. इसके चलते वहां के नदी-नालों में पानी उफान पर है. इसी क्रम में एसडीएम रामेश्वर दयाल मीणा कुशलगढ़ लौट रहे थे. वे पुलिया पार कर रहे थे, तभी पानी के तेज बहाव में वे गाड़ी समेत बह गये.

सूत्रों के अनुसार एसडीएम रामेश्वर दयाल मीणा के ड्राइवर को 2 किलोमीटर दूर पर लोगों ने किसी तरह बचाया. घटना के दो घंटे होने के बाद भी अब तक एसडीएम के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही है. वहीं हादसे की जानकारी मिलते ही डीएम आैर एसपी मौके पर पहुंच गये हैं. अन्य अधिकारी पर दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे हुए हैं. एसडीएम की जोर-शोर से तलाशी चल रही है.

एसपी कालूराम रावत के अनुसार एसडीएम बागीदौरा से कुशलगढ़ लौट रहे थे. बीच में पुलिया पर पानी बह रहा था. लगभग पांच फ़ीट पानी था. लेकिन ड्राइवर उसकी तेज बहाव का अंदाजा नहीं लगा सके और उसने गाड़ी पानी में उतार दी. तेज बहाव में गाड़ी बह गयी. लगभग दो किलोमीटर दूर ड्राइवर ने पेड़ के सहारे से अटक गया, लोगों की नजर उस पर पड़ी तो उसे बचाया गया, लेकिन एसडीएम का कुछ पता नहीं चल रहा है.

सूत्रों के अनुसार नदी के दूसरी ओर एसडीएम की गाड़ी दिख रही है. प्रशासन ने गोताखोरों को बुला लिया है. हालांकि बहाव तेज होने के कारण रेस्क्यू आॅपरेशन में परेशानी आ रही है. लेकिन एसडीएम रामेश्वर दयाल मीणा की तलाशी जोर से हो रही है. घटनास्थल पर ही डीएम और एसपी जमे हुए हैं.

इसे भी पढ़ें : जदयू ने बुलाई प्रवक्ताओं की आपात बैठक, तेजस्वी मुद्दे पर होगा बड़ा फैसला ! 
जदयू का राजद पर हमला, संपत्ति का खुलासा करें लालू प्रसाद