शरद यादव पर बड़ी कार्रवाई, अब यहां से भी निकाले गए

लाइव सिटीज डेस्कः उद्योग मंत्रालय की संसदीय समिति के चेयरमैन पद से जदयू के बागी नेता शरद यादव की छुट्टी कर दी गई है. यह फैसला जदयू की तरफ से उनके खिलाफ की गई कार्यवाही के बाद किया गया. उनकी राज्यसभा सदस्यता रद करने का फैसला अभी लंबित है. इस समिति का अध्यक्ष उनकी जगह जदयू के नेता रामचंद्र प्रसाद सिंह को बनाया गया है.

उल्लेखनीय है कि शरद यादव ने नीतीश कुमार के भाजपा से हाथ मिलाने के बाद बगावत कर दी थी. उसके बाद से नीतीश ने भी उनके खिलाफ मोर्चा खोला. राज्यसभा के सभापति को अवगत कराया गया कि शरद ने पार्टी के खिलाफ काम किया है, लिहाजा उन्हें निष्कासित कर दिया गया है.

उनकी सदस्यता रद करने की मांग जदयू की तरफ से की गई थी. सभापति वेंकैया नायडू के पास यह फैसला अभी लंबित है. उधर, संसदीय समितियों पर अब कांग्रेस का वर्चस्व लगभग खत्म होता जा रहा है. दोनों सदनों की कुल 24 समितियों में 14 की अगुआई भाजपा व उसके सहयोगी दल कर रहे हैं जबकि दस की अध्यक्षता विपक्ष के पास है. इसमें से कांग्रेस के पास पांच की अध्यक्षता ही रह गई है.

कार्मिक, कानून व न्याय के मामलों से जुड़ी समिति की अगुआई कांग्रेस के सांसद आनंद शर्मा कर रहे थे. इसकी अगुआई अब भाजपा के सांसद भूपेंद्र यादव को मिल गई है, लेकिन अभी भी गृह, विदेश व वित्त मंत्रालय से जुड़ी समिति कांग्रेस के पास ही हैं.

रक्षा मंत्रालय की समिति के अध्यक्ष के तौर पर भाजपा के बीसी खंडूरी को सेवा विस्तार दिया गया है. कांग्रेस सांसद पी चिदंबरम, शशि थरूर व एम वीरप्पा मोइली को भी दूसरा कार्यकाल सौंपा गया है. कांग्रेस के आनंद शर्मा अब अपनी पार्टी की सांसद रेणुका चौधरी की जगह विज्ञान, तकनीक, पर्यावरण व वन से जुड़ी संसदीय समिति की अध्यक्षता करेंगे.

यह भी पढ़ें-

शरद यादव ने कहा- मेरे कहने पर ही महागठबंधन के लिए लालू हुए थे तैयार
Patna में चलिए Sangeeta, यहां TV के साथ TV फ्री मिल रहा है अभी
मौका है : AIIMS के पास 6 लाख में मिलेगा प्लॉट, घर बनाने को PM से 2.67 लाख मिलेगी ​सब्सिडी
RING और EARRINGS की सबसे लेटेस्ट रेंज लीजिए चांद​ बिहारी ज्वैलर्स में, प्राइस 8000 से शुरू
चांद बिहारी अग्रवाल : कभी बेचते थे पकौड़े, आज इनकी जूलरी पर है बिहार को भरोसा

(लाइव सिटीज मीडिया के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)