शिवानंद का नीतीश से गुहार : बिहार में महागठबंधन को टूटने से बचा लें…

फाइल फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : बिहार के महागठबंधन में 10 दिनों से सियासत तेज है. इसे लेकर नेताओं की बयानबाजी भी चरम पर है. अपने-अपने नेताओं से मंत्रियों और विधायकों का मिलने का दौर भी जारी है. इसी कड़ी में रविवार को वरीय नेता शिवानंद तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से महागठबंधन को बचाने की गुहार लगायी है. उन्होंने कहा कि भाजपा बिहार में महागठबंधन को तोड़ने की साजिश में लगी है. उन्होंने अपने बयान में केंद्र पर भी निशाना साधा है.

इसके पहले वरीय नेता शिवानंद तिवारी रविवार की सुबह राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के आवास पर गये और उनसे काफी देर तक बात की. उम्मीद की जा रही है कि महागठबंधन में मचे उथल-पुथल को लेकर लंबी चर्चा हुई. तेजस्वी यादव के मुद्दे पर भी बात हुई. वहां से निकलने पर उन्होंने मीडिया के सवालों का जवाब दिया. मीडिया को दिये गये बयान से लगता है कि तेजस्वी यादव के इस्तीफा नहीं देने पर चर्चा हुई.

शिवानंद तिवारी ने सीएम नीतीश कुमार से गुहार लगायी है. उन्होंने कहा कि मैं नीतीश कुमार से हाथ जोड़ कर निवेदन करता हूं कि वे महागठबंधन को टूटने से बचा लें. प्रवक्ताओं के कारण संवादहीनता की स्थिति हो गयी है. उन्होंने कहा कि भाजपा महागठबंधन को तोड़ने की साजिश रच रही है. उसकी साजिश को वे सफल नहीं होने दें. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार यदि लालू प्रसाद को बड़ा भाई मानते हैं तो महागठबंधन को बचा लें.

केंद्र और भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवानंद तिवारी ने कहा कि भाजपा को 2019 के चुनाव का डर है. उसे अभी से बिहार के महागठबंधन से हारने का डर सता रहा है. इसलिए वह महागठबंधन को तोड़ने की साजिश कर रही है. उन्होंने कहा कि केंद्र के हाथ में तोता भी है और पिंजरा भी है. इसका गलत इस्तेमाल किया जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि केवल एफआइआर में नाम आने से तेजस्वी यादव इस्तीफा क्यों दें.

इसे भी पढ़ें : महागठबंधन बचाने की कवायद : शरद ने सोनिया से की मुलाकात, 40 मिनट चली बात 
नीतीश सरकार को सुप्रीम कोर्ट से फटकार, पेंडिंग वेतन पर 4 सप्ताह में मांगा जवाब 
सीएम नीतीश ने बुलायी जदयू विधायकों की आपात बैठक, होगा बड़ा फैसला