सुमो का लालू फैमिली पर फिर अटैक, 18 फ्लैटों की मालकिन हैं राबड़ी देवी

Sushil Modi
प्रेस कांफ्रेंस में लालू परिवार की संपत्ति का खुलासा करते सुशील मोदी (फाइल फोटो)

पटना : भाजपा के वरीय नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एक बार राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद व उनके परिवार पर पॉलिटिकल अटैक किया है. उन्होंने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर बेनामी संपत्ति का आरोप लगाया.

भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राबड़ी के पटना में 18 फ्लैट हैं. वे 18 फ्लैट की मालकिन हैं. इसके अलावा राबड़ी देवी ने लालू प्रसाद के रेलमंत्री के कार्यकाल में दो लोगों से कीमती जमीन भी लिखवा ली. इसकी जांच होनी चाहिए.


ये हैं सुशील मोदी के प्रेस कॉन्फ्रेंस के मुख्य बिंदु

* बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पटना शहर के अंदर 18 फ्लैट एवं 18 पार्किंग स्थानों की मालकिन हैं.

* ये 18 फ्लैट कुल 18,652 स्क्वायर फीट जमीन में बने है, जिनकी कीमत आज 20 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

* राबड़ी देवी ने पटना शहर के 2 अलग-अलग स्थानों पर लालू प्रसाद के रेल मंत्री या स्वयं के मुख्यमंत्रित्व काल में उक्त जमीन लिखवा ली. इनमें मौजा-जलालपुर, रंजन पथ, थाना- दानापुर, 6 कट्ठा 8 घुर, 9½ धुरकी = 20.074 डिसमिल तथा दूसरी जमीन मौजा- शेखपुरा, थाना- शास्त्री नगर, वार्ड नं.-3 6715 स्क्वायर फीट = 15.4155 डिसमिल है.

* राबड़ी देवी ने उपरोक्त जमीन 3 ऐसे लोगों से लिखवायी, जिनके परिवार को रेलवे में नौकरी दी गई थी या जिन्हें रेल मंत्री के नाते मदद की गई थी.

* इस एक जमीन स्व. अरविन्द कुमार यादव के बेटों मनोज, गोपी कृष्ण, राजेश कुमार, बिनोद कमार एवं सुशीला देवी पति-अरविन्द यादव से लिखवायी गयी. इसमें मनोज कुमार के परिवार को रेलवे में नौकरी दी गयी है.

* इन दोनों भूखण्डों पर फरवरी, 2011 में श्रेया कंस्ट्रक्शन द्वारा अमरेन्द्र कुमार सिन्हा, खजांची रोड, पटना के साथ डेवलपमेंट एग्रीमेंट किया गया.

* इस एग्रीमेंट के अनुसार कुल 37 हजार 405 स्क्वायर फ्लैट में 36 फ्लैट बनाया जाना था, जिसमें दोनों की 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी थी.

* इस प्रकार राबड़ी देवी 18 फ्लैट एवं 18 पार्किंग प्लेस की मालकिन हैं.

* अरविन्द यादव के परिवार को आवामी Co-operative Bank के माध्यम से चेक दिखाये गये हैं, जिनका कभी भुगतान नहीं हुआ.

* आवामी Co-operative Bank के अध्यक्ष अनवर अहमद हैं, जिन्हें लालू प्रसाद का कबाब मंत्री कहा जाता था, जिसे लालू ने MLC बनाया और जिनके यहां CBI ने पिछले दिनों नोटबंदी के दौरान फर्जी बैंक खातों के आरोप में छापेमारी कर करोड़ों रुपये जब्त किया था.

* रेल मंत्री के नाते नौकरी/ठेका/मदद के एवज में जो जमीन लिखवायी गयी, उस जमीन में से एक रेसिडेंशियल कम कॉमर्शियल कम्प्लेस का नाम स्व. मरछिया देवी के नाम से है, जो लालू प्रसाद की मां के नाम से है.

* इसके अतिरिक्त मौजा सगुना, नया टोला,थाना- दानापुर कांति सिंह द्वारा पहले लीज और बाद में बेची दिखाई गई 62 डिसमिल जमीन पर 18 हजार स्क्वायर फीट कॉमर्शियल बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : सुशील मोदी का सवाल : अकेले में योग करते हैं नीतीश, फिर क्यों करते हैं विरोध?