स्मृति ईरानी का डिग्री विवाद पहुंचा दिल्ली हाईकोर्ट

smritiirani
स्मृति ईरानी (फाइल फोटो)

लाइव सिटीव डेस्क : केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी एक बार फिर चर्चा में है. इस बार भी वही डिग्री विवाद है. यह मामला दिल्ली हाईकोर्ट पहुंच गया है. दिल्ली हाईकोर्ट ने निचले कोर्ट के आदेश की प्रति को मांगा है. दरअसल पटियाला हाउस से अर्जी ख़ारिज होने के बाद याचिकाकर्ता ने इस मामले को हाईकोर्ट में चुनौती दी है.

एक बार फिर केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी का डिग्री विवाद सुर्खियों में आ गया है. अहमद याान नामक व्यक्ति ने स्मृति ईरानी पर आरोप लगाया था कि उन्होंने निर्वाचन आयोग को अपनी शैक्षणिक योग्यता की गलत जानकारी दी है. इसे लेकर अहमद ने पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दायर की थी.

smritiirani

आरोप में कहा गया था कि स्मृति ईरानी ने अप्रैल 2004 के चुनावी हलफनामे में यह जानकारी दी थी कि उन्होंने 1996 में डीयू से डिस्टेंस कोर्स के जरिये बीए की डिग्री ली थी. फिर जुलाई 2011 में गुजरात से राज्यसभा सदस्य के चुनाव के दौरान स्मृति ईरानी ने यह जानकारी दी थी कि वह दिल्ली विश्वविद्यालय से बीकॉम प्रथम वर्ष पास है. इसके बाद वर्ष 2014 के हलफनामे में भी कहा कि वह दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग से बीकॉम प्रथम वर्ष उत्तीर्ण है.

इस मामले में सुनवाई करते हुए पटियाला कोर्ट ने इहमद खान की याचिका को खारिज कर दिया, साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि लगता है कि यह याचिका केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को परेशान करने के लिए दायर की गयी है. इसी को लेकर अब याचिकाकर्ता ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर ​की है. इस बाबत याचिकाकर्ता के अधिवक्ता अनूप चौधरी ने कोर्ट को जानकारी दी कि इस मुद्दे पर निचली अदालत ने याचिकाकर्ता के साक्ष्यों व गवाहों पर गौर नहीं किया और गलत तरीके से फैसला सुना दिया.

इसी मामले में अब दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनवाई की है. जज एसपी गर्ग ने अहमद खान की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें पटियाला कोर्ट के फैसले की कॉपी मांगी है. इस मामले में अगली सुनवाई 13 सितंबर को होगी.

उसी दिन ट्रायल कोर्ट का रिकॉर्ड पेश किया जायेगा.